UP Farmers News: किसानों की आय दोगुनी करने के मकसद से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने 25 लाख से अधिक किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड (Kisan Credit Card) योजना से जोड़ने का कदम उठाया है. केसीसी के तहत किसानों को बीज, सिंचाई, फसल उत्पादन, भूमि की तैयारी, उर्वरकों और अन्य आवश्यकताओं के लिए रियायती दर पर ऋण उपलब्ध कराया जाता है. इससे कृषि क्षेत्र में चल रहे पूंजी संकट का समाधान होगा जो फसलों के उत्पादन और बिक्री को सीधे प्रभावित करता है. Also Read - किसान क्रेडिट कार्ड को लेकर सरकार का बड़ा फैसला, किसानों के पास दूर हो जाएगी रुपयों की कमी!

योगी सरकार ने किसानों को केसीसी के माध्यम से आर्थिक सहायता प्रदान कर फसल के मौसम से पहले नकदी की कमी जैसे मुद्दों को दूर करने में मदद करने के लिए प्रभावी उपाय किए हैं. परिणामस्वरूप, राज्य के किसान अपनी उपज का उचित मूल्य पाकर फल-फूल रहे हैं. एक सरकारी प्रवक्ता ने कहा कि स्वामीनाथन समिति के अनुसार, सरकार ने फसल खर्च से संबंधित न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर 64,000 करोड़ रुपये की राशि खर्च की है. इसमें फसलों की खरीद की पारदर्शी प्रक्रिया और 72 घंटों के भीतर किसानों के खाते में भुगतान शामिल है. Also Read - PM Kisan Samman Nidhi: अब इस राज्य के किसानों को भी मिलेगा PM Kisan Samman Nidhi, PMFBY और किसान क्रेडिट कार्ड का लाभ

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi News) के तहत लगभग 2.42 करोड़ किसानों को अब तक 27,101 करोड़ रुपये मिले हैं. इस परियोजना के अधिकांश लाभार्थी उत्तर प्रदेश के किसान हैं. किसानों को वित्तीय संकट से राहत दिलाने के लिए, योगी सरकार ने अपनी पहली कैबिनेट बैठक में 36,359 करोड़ रुपये के ऋण माफ किए थे. तब से, राज्य में किसानों की स्थिति में सुधार के लिए सरकार लगातार काम कर रही है. Also Read - Kisan Credit Card Yojana Interest Rate: 'केसीसी लोन पर ब्याज की दर 12 फीसदी हुई'... ये है खबर की सच्चाई

(इनपुट: IANS)