गोरखपुर: सीएम योगी आदित्यनाथ के गृहनगर गोरखपुर मंडल के देवरिया जिले में सोमवार को एक मंदिर के पुजारी का शव तालाब के किनारे मिला. हत्या का संदेह होने पर पुजारी के परिजन ने एक युवक को धारदार हथियार से ताबड़तोड़ प्रहार कर दिया. इससे युवक की मौत हो गई. पुलिस ने एक शख्स को हिरासत में लिया है. उससे पूछताछ की जा रही है. पुलिस का कहना है कि आरोपियों को तलाशा जा रहा है.

पुलिस के अनुसार देवरिया जिले के सकरापुर गांव स्थित एक शिव मंदिर के पुजारी मोती यादव (70) का शव सोमवार सुबह एक तालाब के पास पाया गया. शव पर चोट के कई निशान पाए गए. यादव के परिजन ने मंदिर की रखवाली करने वाले पिंटू (25) नामक युवक पर शक जाहिर करते हुए मंदिर से करीब 300 मीटर की दूरी पर उसकी धारदार हथियार से प्रहार करके हत्या कर दी.

पुलिस अधीक्षक एन. कोलांची ने बताया कि पिंटू मानसिक रूप से बीमार था और वह पिछले चार-पांच दिनों के दौरान कई लोगों से मारपीट कर चुका था. उसने मोती यादव की हत्या की और बदले में उसका भी कत्ल कर दिया गया. उन्होंने बताया कि पिंटू की हत्या के मामले में सुनील यादव नामक व्यक्ति को हिरासत में लेकर की गई पूछताछ में मोती यादव के भाई गंगा यादव, बेटों चंदन तथा सूरज और दामाद राम यादव के नाम सामने आए हैं. पुलिस उनकी तलाश कर रही है. दोनों शव पोस्टमार्टम के लिये भेजे गए हैं. मामले की जांच की जा रही है.