लखनऊ: गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में पिछले साल संदिग्ध परिस्थितियों में मरीज बच्चों की मौत के मामले में अभियुक्त डॉ कफील खान और उनके भाई को धोखाधड़ी के नौ साल पुराने एक मामले में आज गिरफ्तार कर लिया गया. Also Read - यूपी के मंत्री का विवादित बयान, ममता बनर्जी को बताया 'इस्लामिक आतंकवादी'

Also Read - यूपी में बच्‍चों के यौन शोषण मामला: बर्खास्त बीजेपी नेता के लैपटॉप में मिले कई अश्लील वीडियो

  Also Read - यूपी: पुलिस जवान पर महिला सिपाही के साथ रेप का आरोप, किराए का मकान दिखाने के बहाने ले जाकर की वारदत

गोरखपुर पुलिस क्षेत्राधिकारी (कैंट) प्रभात कुमार राय ने बताया कि शहर के राजघाट थाने में मुजफ्फर आलम नामक व्यक्ति ने वर्ष 2009 में डॉक्टर कफील और उनके भाई अदील अहमद खान के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया था. उसने दोनों पर 82 लाख रुपए का लेन-देन करने के लिए बैंक में खाता खुलवाने के मकसद से उसकी फोटो तथा पहचान पत्र का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया था. इसी मामले में आज इन दोनों अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया.

यूपी: बहराइच में अब तक 70 से अधिक बच्चों की मौत, देखने पहुंचे डॉ. कफील खान अरेस्ट

बहराइच से कल हुए थे रिहा

पुलिस सूत्रों ने बताया कि कफील और अदील को कल बहराइच से गोरखपुर वापस लाने के बाद गिरफ्तार किया गया. कफील को कल बहराइच के अस्पताल में अव्यवस्था फैलाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. बाद में उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया था. कफील पिछले साल अगस्त में गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में 24 घंटे के अंदर बड़ी संख्या में मरीज बच्चों की मौत के मामले में अभियुक्त बनाए गए नौ लोगों में शामिल हैं. उन्हें इसी मामले में पिछले साल गिरफ्तार किया गया था. इस साल अप्रैल में अदालत ने उन्हें जमानत दे दी थी जिसके बाद उन्हें रिहा किया गया था.