लखनऊ: गुजरात के पाटीदार आरक्षण नेता हार्दिक पटेल ने उत्तर प्रदेश सरकार को ‘‘बाबाओं की सरकार’’ करार देते हुए गुरुवार को कहा कि वे (भाजपा) केंद्र और प्रदेश में सरकार होने के बावजूद अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण नही कर पा रहे हैं. Also Read - Covid-19: गृह मंत्री अमित शाह से लेकर यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ तक, इन राज नेताओं ने जलाए दीये

हार्दिक प्रदेश के सीतापुर जिले में अगले माह दिसंबर में होने वाले युवा और किसान सम्मेलन की तैयारियों का जायजा लेने यहां आये थे. इस सम्मेलन के मुख्य अतिथि हार्दिक होंगे. उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव तक उत्तर प्रदेश में ऐसे कई सम्मेलन होंगे. Also Read - तबलीगी जमात को लेकर यूपी सीएम सख्त, सूचना छिपाने वालों पर दर्ज होगा मुकदमा 

अपनी संक्षिप्त लखनऊ यात्रा के दौरान हार्दिक ने गुरुवार को ‘भाषा’ से विशेष बातचीत में कहा कि ‘ उत्तर प्रदेश में बाबाओं की सरकार है, वह जनता का थोड़े ही भला करती है. मुख्यमंत्री गोरखपुर के पीठाधीश्वर हैं. उन्हें वहां भगवान की सेवा करनी चाहिए. भगवान की सेवा करते हैं, फिर भी कहां कुछ कर पा रहे हैं.’’ Also Read - आगे बढ़ेगा जनता कर्फ्यू! योगी आदित्यनाथ बोले- ऐसे कार्यक्रमों के लिए हमें आगे भी तैयार रहना होगा

अयोध्या मामले के वादियों ने कहा, विहिप-शिवसेना के आयोजनों से पहले मुसलमानों में डर, सरकार दे सुरक्षा

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि अभी चुनाव लड़ने के बारे में कुछ नही सोचा है. पटेल ने कहा कि भाजपा नीत सरकारों का साढ़े दस साल का शासन हो गया है. छह साल की अटल बिहारी वाजपेयी नीत सरकार और साढे़ चार साल की वर्तमान केंद्र सरकार. उन्होंने कहा कि इन साढ़े दस साल में राम मंदिर का कुछ हो ही नहीं पाया? उन्होंने कहा कि ‘फिर भी (वे) कहते हैं कि कांग्रेस ने 78 साल में क्या किया? अच्छा हुआ कांग्रेस ने स्कूल-कॉलेज बनवाये. अगर कांग्रेस सरकार ने यह मूर्तियां बनवाई होती तो यह आईआईटी वगैरह कहां होते? मुझे लगता है कि मेरे देश का सारा युवा आस्ट्रेलिया-अमेरिका चला जाता.’’

यूपी डीजीपी का दावा, अयोध्‍या ही नहीं समूचे प्रदेश में पूरी तरह से सुरक्षित हैं अल्पसंख्यक

उत्तर प्रदेश में जिलों के नाम बदलने के सवाल पर पाटीदार आंदोलन नेता ने कहा ‘मेरा भी नाम राम कर दो, राम राज्य आ जायेगा. अगर नाम बदलने से देश का भला होता है तो देश के 125 करोड़ लोगों में से किसी का नाम राम कर दो, किसी का नाम लक्ष्मण कर दो, किसी का नाम दशरथ रख दो तो राम राज्य आ जायेगा और देश का कल्याण हो जायेगा.’

मिशन 2019 फतेह के लिए BJP निकालेगी ‘कमल संदेश बाईक रैली’, वाराणसी में CM योगी करेंगे अगुवाई

उत्तर प्रदेश से संयुक्त विपक्ष के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ने की संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर हार्दिक ने कहा कि ‘ नहीं अभी चुनाव लड़ने के बारे में सोचा नहीं है. लेकिन यह तो वक्त की बात है, कि कहां लड़ना है, किस के खिलाफ लड़ना है… मौका देखकर बतायेंगे.’ पाटीदार नेता से पूछा गया कि वह उत्तर प्रदेश में किसी राजनीतिक दल के समर्थन में कार्यक्रम कर रहे हैं तो उन्होंने कहा कि ‘वह सत्ता के खिलाफ हैं. वह किसी पार्टी के साथ नहीं हैं, लेकिन जो भी पार्टियां सत्ता के खिलाफ हैं, हम उन सभी के साथ हैं. अभी मेरा काम युवाओं और किसानों को जागरूक करना है, इसीलिये लोकसभा चुनाव तक प्रदेश में कई कार्यक्रम करूंगा.’