Hathras Rape Case Updates: राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की अगुवाई में कांग्रेस सांसदों एक प्रतिनिधिमंडल आज दोपहर हाथरस में कथित गैंगरेप मामले की पीड़िता के परिवार से मिलने जाएगा. पार्टी नेता केसी वेणुगोपाल के मुताबिक, राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस के कई सांसद हाथरस जाएंगे और शोकाकुल परिवार से मुलाकात करेंगे. सूत्रों ने बताया, ‘कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल परिवार से मुलाकात कर उनकी चिंताएं सुनेगा और पीड़िता एवं परिवार के लिए न्याय की मांग करेगा.’ Also Read - बिहार: कांग्रेस के प्रदेश कार्यालय से 8 लाख रुपए बरामद, इनकम टैक्स अफसरों ने रणदीप सिंह सुरजेवाला से की पूछताछ

वायनाड से कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने पीड़ित परिवार से मुलाकात के पहले एक बार फिर हुंकार भरी. राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा, “दुनिया की कोई भी ताक़त मुझे हाथरस के इस दुखी परिवार से मिलकर उनका दर्द बांटने से नहीं रोक सकती.”

उन्होंने अपने अगले ट्वीट में लिखा, ‘इस प्यारी बच्ची और उसके परिवार के साथ UP सरकार और उसकी पुलिस द्वारा किया जा रहा व्यवहार मुझे स्वीकार नहीं. किसी भी हिन्दुस्तानी को ये स्वीकार नहीं करना चाहिए.

इससे पहले गुरुवार को राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को पुलिस ने पीड़िता के परिवार से मुलाकात के लिए हाथरस जाने से रोककर हिरासत में ले लिया था. दूसरी तरफ, कांग्रेस ने दावा किया कि राहुल और प्रियंका को उत्तर प्रदेश की पुलिस ने गिरफ्तार किया था.

 

बता दें कि 14 सितंबर को हाथरस में चार युवकों ने 19 वर्षीय दलित लड़की से कथित तौर पर गैंगरेप किया था और मंगलवार को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में उसकी मौत हो गई. इसके बाद बुधवार की रात को उसके शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया. पीड़िता के परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने उन्हें रात में अंतिम संस्कार करने के लिए बाध्य किया. बहरहाल, स्थानीय पुलिस का कहना है कि ‘परिवार की इच्छा के मुताबिक’ अंतिम संस्कार किया गया.

उधर, दिल्ली के जंतर मंतर पर शुक्रवार को कोविड-19 महामारी के बाद से शायद सबसे बड़ा प्रदर्शन हुआ और वहां जुटे सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने हाथरस में कथित गैंगरेप की शिकार हुई युवती के लिए इंसाफ की मांग की. आपस में एक दूसरे से दूरी बनाकर रखने और मास्क लगाने के स्वास्थ्य संबंधी नियमों की जमकर अवहेलना होती देखी गयी. कुछ प्रदर्शनकारियों ने मास्क नहीं लगा रखा था. पुलिस वहां बड़ी संख्या में जुटे प्रदर्शनकारियों से आपस में दूरी बनाकर रखने और मास्क लगाने का आह्वान करती रही.

एसपी समेत कई अधिकारी निलंबित
हाथरस की घटना पर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने शुक्रवार को कड़ा रुख अख्तियार करते हुए पुलिस अधीक्षक, तत्‍कालीन क्षेत्राधिकारी और प्रभारी निरीक्षक समेत कई जिम्‍मेदार अधिकारियों को निलंबित करने का आदेश दिया जिसके बाद इन अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया. इस मामले को लेकर विपक्ष ने सरकार के खिलाफ आंदोलन छेड़ दिया था. अपर मुख्‍य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्‍थी ने शुक्रवार को इस फैसले की जानकारी दी.

मुख्‍यमंत्री ने हाथरस की घटना की जांच के लिए एसआईटी टीम गठित की थी. एसआईटी की रिपोर्ट मिलने के बाद लापरवाही और ढिलाई बरतने के आरोप में पुलिस अधीक्षक विक्रांत वीर, तत्‍कालीन क्षेत्राधिकारी राम शब्‍द, तत्‍कालीन प्रभारी निरीक्षक दिनेश कुमार वर्मा, वरिष्‍ठ उपनिरीक्षक जगवीहर सिंह, हेड मुहर्रिर महेश पाल को निलंबित कर दिया गया है.

(इनपुट: भाषा)