Hatrhras Case Updates: उत्‍तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Govt) ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में हलफनामा दाखिल कर हाथरस (Hatrhras Case) मामले में चल रही सीबीआई जांच (CBI Probe) की निगरानी की गुहार लगाई है. हलफनामा में यूपी सरकार (UP Govt) की तरफ से कहा गया है कि वह पीड़‍िता के परिवार और मामले में गवाहों को तीन स्‍तर की सुरक्षा दे रही है. बता दें कि सीबीआई ने मंगलवार से मामले की जांच शुरू की है. सर्वोच्च न्यायालय में हाथरस मामले पर अगली सुनवाई 15 अक्तूबर को होगी. Also Read - जीवन बीमा कराने जा रहे हैं तो सुप्रीम कोर्ट की ये चेतावनी ज़रूर जान लें, मुश्किल नहीं होगी

यूपी सरकार की तरफ से दाखिल हलफनामा में कोर्ट को बताया गया है कि सुरक्षा के लिए लिए पुलिस और अन्य सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं. इसके साथ-साथ गांव की सीमा के साथ-साथ पीड़िता के घर के पास भी जगह-जगह पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. बता दें कि हाथरस मामले की सुनवाई इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच भी कर रही है. कोर्ट ने घटना का स्वतः संज्ञान लिया था.

उधर, सीबीआई की टीम मंगलवार को हाथरस पहुंची और वारदात का नाट्य रूपांतरण करने के साथ-साथ मृतका के भाई से लंबी पूछताछ की. पुलिस के एक जनसंपर्क अधिकारी ने सीबीआई टीम के जाने की पुष्टि की लेकिन विस्‍तार से कोई जानकारी देने से इंकार कर दिया. सूत्रों के मुताबिक सीबीआई की टीम मौका-ए-वारदात यानी बाजरे के खेत में गई और तथ्य जुटाने के लिए वारदात का नाट्य रूपांतरण (रीक्रियेशन) करने की कोशिश की. इसके अलावा टीम उस जगह पर भी गयी जहां लड़की के शव का अंतिम संस्कार किया गया था.

बता दें कि हाथरस जिले के एक गांव में 14 सितंबर को 19 वर्षीय दलित युवती से चार लड़कों ने कथित रूप से गैंगरेप किया था. लड़की की बाद में 29 सितंबर को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई. मौत के बाद आनन-फानन में पुलिस ने देर रात पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया था, जिसके बाद काफी बवाल हुआ. परिवार का आरोप है कि अंतिम संस्कार के दौरान उनकी सहमति नहीं ली गई वहीं, प्रशासन ने इन दावों को खारिज किया है.