Hathras Gangrape Latest Updates Rahul Gandhi and Priyanka Gandhi Vadra reach Hathras: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा शनिवार को प्रशासन से अनुमति मिलने के बाद कथित सामूहिक बलात्कार घटना की पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए उनके घर पहुंचे. इस दौरान कई अन्य कांग्रेस नेता भी उनके साथ दिखे. डीएनडी पर कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं के बड़ी संख्या में जमा होने के बाद प्रशासन ने राहुल गांधी समेत पांच लोगों को हाथरस जाने की अनुमति दी. अनुमति मिलने के कुछ घंटों बाद करीब शाम साढ़े 7 बजे राहुल और प्रियंका पीड़िता के घर पहुंचे. Also Read - बिहार: कांग्रेस के प्रदेश कार्यालय से 8 लाख रुपए बरामद, इनकम टैक्स अफसरों ने रणदीप सिंह सुरजेवाला से की पूछताछ

इस दौरान प्रियंका ने पीड़िता की मां को गले लगा कर ढांढस बढ़ाया और कहा कि इस संकट की घड़ी में कांग्रेस आपके साथ है. जिला प्रशासन ने सुबह आए डीजीपी और अपर मुख्य सचिव की तरह चटाई पर बैठकर वार्ता करने का इंतजाम किया था. लेकिन, राहुल गांधी मृतका के पिता और भाइयों को कमरे में ले गए और कमरे को बंद कर लिया. इस दौरान मीडियाकर्मियों को बाहर कर दिया गया. Also Read - बिहार में मुफ्त वैक्सीन बांटने के वादे पर राहुल गांधी का बीजेपी पर हमला, RJD बोली- इसमें भी चुनावी सौदेबाजी, छी-छी

गांव पहुंचने के बाद प्रियंका गांधी ने पीड़िता की मां से मुलाकात की. सूत्रों के मुताबिक राहुल और प्रियंका के साथ हाथरस कांग्रेस नेता के.सी. वेणुगोपाल, अधीर रंजन चौधरी और पी.एल. पुनिया भी पहुंचे हैं.

हाथरस में कथित गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिलने के बाद कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा, “परिवार आखिरी बार अपनी बेटी को नहीं देख सका। यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ को अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए। जब तक न्याय नहीं मिल जाता, हम यह लड़ाई जारी रखेंगे.” प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि परिवार इस घटना की न्यायिक जांच और जिला मजिस्ट्रेट को हटाना चाहता है. उन्हें सुरक्षा भी चाहिए.

वहीं राहुल गांधी ने कहा कि दुनिया की कोई भी ताकत परिवार की आवाज को दबा नहीं सकती.

इससे पहले शनिवार को पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हल्के लाठीचार्ज का सहारा लिया, जिसमें कई कांग्रेस कार्यकर्ता घायल हो गए. पुलिस की कार्रवाई के बाद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी गाड़ी से उतरे और एक घायल पार्टी कार्यकर्ता के पास गए और उसका हालचाल जाना. यह राहुल और प्रियंका का हाथरस जाने का दूसरा प्रयास था. इससे पहले गौतमबुद्ध नगर (नोएडा) में गुरुवार को यमुना एक्सप्रेस-वे पर राहुल और अन्य नेताओं के वाहनों को रोक दिया गया था.

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी अन्य कांग्रेस नेताओं के काफिले के साथ शनिवार की दोपहर उत्तर प्रदेश की हाथरस पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए निकले तो दिल्ली-नोएडा डायरेक्ट (डीएनडी) फ्लाईवे पर बड़े पैमाने पर ट्रैफिक जाम देखने को मिला. हाथरस की लड़की के साथ कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के बाद राजनीति गरमा गई है. पीड़िता ने चार दिन पहले दिल्ली के एक अस्पताल में दम तोड़ दिया, जिसके बाद विपक्षी नेता खासकर कांग्रेस के नेता हाथरस जाने की कोशिशों में लगे हुए थे.