नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित महिला से कथित सामूहिक दुष्कर्म को लेकर गरमाई राजनीति के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि वर्तमान में उनकी सरकार की अपराधों के विरुद्ध ‘जीरो टॉलरेन्स’ की नीति है. इसके अलावा मुख्यमंत्री ने पुलिस को निर्देश देते हुए कहा कि वह बालिकाओं/महिलाओं से जुड़े मामलों में पूरी संवेदनशीलता और तत्परता बरते. उन्होंने कहा है कि अनुसूचित जाति/जनजाति से संबंधित मामलों में यूपी पुलिस गंभीरता और शीघ्रता के साथ कार्यवाही करे. Also Read - गंगा नदी में बहती मिली बच्ची, नाविक ने सीने से लगाकर मान लिया बेटी, CM योगी बोले- Thank You

उन्होंने कहा, “वर्तमान राज्य सरकार की अपराधों के विरुद्ध ‘जीरो टॉलरेन्स’ की नीति है. प्रदेश सरकार द्वारा लगातार की गई कार्यवाही से बालिकाओं व महिलाओं के प्रति अपराधों में उल्लेखनीय कमी आई है.” गौरतलब है कि 14 सितम्बर को हाथरस में चार युवकों ने 19 वर्षीय दलित लड़की से कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार किया था. मंगलवार सुबह दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में पीड़िता की मौत हो गई, जिसके बाद बुधवार तड़के उसके शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया. Also Read - Food Processing Hub: यूपी बना फूड प्रोसेसिंग के लिए उद्योगपतियों का पसंदीदा क्षेत्र

पीड़िता के परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने उन्हें रात में ही अंतिम संस्कार करने के लिए बाध्य किया. बहरहाल, स्थानीय पुलिस का कहना है कि ‘‘परिवार की इच्छा के मुताबिक’’ अंतिम संस्कार किया गया. इस पूरे मामले को लेकर राजनीतिक माहौल गर्म है. विपक्ष के तमाम हमलों का सामना कर रहे सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, “वर्तमान प्रदेश सरकार ने कार्यभार ग्रहण करने के पश्चात ‘एन्टी रोमियो स्क्वॉड’ के गठन की कार्यवाही की.” उन्होंने ‘एन्टी रोमियो स्क्वॉड’ को निरन्तर और प्रभावी ढंग से कार्यशील रखने के निर्देश दिए गए हैं. Also Read - UP Unlock Latest Update: उत्तर प्रदेश में नाइट कर्फ्यू से और दो घंटे की छूट, सरकार ने बताई टाइमिंग

उन्होंने कहा, “एन.सी.आर.बी. की वर्ष 2019 की रिपोर्ट के अनुसार महिलाओं के विरुद्ध अपराध के मामलों में प्रदेश में सजा का प्रतिशत 55.2% है, जो देश में सर्वाधिक है. उत्तर प्रदेश में महिला संबंधी अपराधों में वर्ष 2019 में 8,059 मामलों में दोषसिद्धि हुई है, जो देश में सर्वाधिक है.”

गौरतलब है कि हाथरस पहुंचकर अलग-अलग दलों के राजनेता पीड़ित परिवार से मुलाकात कर रहे हैं. इसको लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष पर पलटवार किया है. सीएम योगी ने रविवार को कहा कि विपक्षी दल देश और प्रदेश में जातीय, सांप्रदायिक दंगे कराने की साजिश कर रहे हैं. इन्हें विकास हजम नहीं हो रहा. दंगे होंगे तो विकास रुकेगा. सीएम योगी ने कहा कि दंगों की कोशिश के पीछे सियासी रोटियां सेंकने की मंशा है.