Hathras Gangrape-Murder: हाथरस गैंगरेप पीड़िता की दिल्‍ली के सफदरजंग अस्‍पताल में मौत के बाद सियासत गरमाई हुई है. विपक्षी पार्टियां इस मुद्दे को लेकर सरकार पर हमलावर है. इस बीच 19 वर्षीय पीड़िता के शव का बुधवार तड़के 3 बजे के बाद अंतिम संस्कार कर दिया गया. घरवालों का आरोप है कि पुलिस ने जबरन अंतिम संस्कार किया है. Also Read - यूपी का बिकरू हत्याकांड: जब्‍त हथियारों में कई लोगों के फिंगरप्रिंट्स मिले, क्‍या सजा दिलाने में होगी मुश्‍किल?

‘इंडियन एक्सप्रेस’ की खबर के मुताबिक, पीड़िता के भाई ने बताया कि, ‘मेरी बहन का अंतिम संस्कार कर दिया गया है. पुलिस हमें इस बारे में कुछ नहीं बताया. हमने उनसे विनती की थी कि हम उसके पार्थिव शरीर को अंतिम बार घर ले जाना चाहते हैं, लेकिन उन्होंने हमारी बात नहीं मानी. 19 साल की पीड़िता का हमला करने के लगभग दो हफ्ते बाद सोमवार को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई. आधी रात के करीब उसका शव एंबुलेंस से हाथरस में उसके गांव पहुंचा था. Also Read - Good News For Home Gaurd: 25000 पीआरडी जवानों के लिए बड़ी खुशखबरी, अब पूरे साल मिलेगी ड्यूटी

‘इंडियन एक्सप्रेस’ के मुताबिक, रात करीब 1 बजे पीड़ित के भाइयों में से एक जो हाथरस में था ने बताया, ‘एम्बुलेंस मेन रोड पर है. पुलिस हमें शव को घर के अंदर नहीं ले जाने दे रही है. वे श्मशान भूमि की तरफ जा रहे हैं और हमें अभी उसका अंतिम संस्कार करने के लिए मजबूर कर रहे हैं. हम आधी रात को उसका अंतिम संस्कार नहीं करना चाहते हैं. हम उसे घर ले जाना चाहते हैं.’ Also Read - Bank Robbery in Greater Noida: बैंक लूट मे शामिल दो आरोपी गिरफ्तार, चेकिंग के दौरान पुलिस के हत्थे चढ़े बदमाश

लगभग दो घंटे बाद एक वीडियो और तस्वीरों में चिता को जलते हुए देखा जा सकता है. वहीं, उस दौरान उसके पास परिवार का कोई सदस्य मौजूद नहीं था. 3.30 बजे उसके भाई ने आरोप लगाया, ‘जब हमने उसका अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया तो पुलिस आक्रामक होने लगी. जब मेरे रिश्तेदारों ने यह देखने की कोशिश की कि पुलिस क्या कर रही है, तो उन्होंने हमें लात मारी, हमारे एक रिश्तेदार की चूड़ियां तोड़ दीं. डर से, हमने खुद को अंदर बंद कर लिया है. वे ऐसा क्यों कर रहे हैं?’

वीडियो में पुलिस अधिकारियों के साथ पीड़िता की मां की जिरह भी दिखाई दे रहा है कि कैसे वह शव को अंतिम बार घर ले जाने की विनती कर रही है. इस बीच, हाथरस के संयुक्त मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीणा ने न्यूज एजेंसी ANI को बताया, ‘पीड़िता का अंतिम संस्कार किया गया है. पुलिस और प्रशासन यह सुनिश्चित करेगा कि अपराधियों को सजा दिलाया जाए.’

उधर, रात 2.16 बजे हाथरस पुलिस ने ट्वीट कर कहा कि ‘परिवार की इच्छा के अनुसार’ अंतिम संस्कार किया जाएगा.