लखनऊ: दक्षिण-पश्चिमी मानसून की बदौलत उत्तर प्रदेश के ज्यादातर हिस्से पिछले 24 घंटों के दौरान बारिश से सराबोर हो गए. लगभग पूरे राज्य में हुई तेज बारिश से किसानों के चेहरे खिल गये हैं. हालांकि रुक-रुक कर हो रही यह बारिश कई जगह जानलेवा भी साबित हो रही है. मैनपुरी में वर्षा के बीच दीवार ढहने की अलग-अलग घटनाओं में तीन बच्चों की मौत हो गई. तेज बारिश के कारण घाघरा और शारदा नदियां उफान पर हैं.

आंचलिक मौसम केन्द्र की रिपोर्ट के मुताबिक दक्षिण-पश्चिमी मानसून उत्तर प्रदेश में पूरी तरह सक्रिय हो गया है और पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य के ज्यादातर स्थानों पर बारिश हुई. कुछ स्थानों पर तो भारी से बहुत भारी वर्षा भी हुई. इस अवधि में उरई में सबसे ज्यादा 21 सेंटीमीटर बारिश रिकार्ड की गयी. इसके अलावा आगरा और मथुरा में 15-15, जालौन में 14, आगरा में 13, बरेली में 11, अकबरपुर, हमीरपुर और महरौनी में 10-10, शाहगंज, औरैया, बागपत, मौदहा और खैरागढ़ में नौ-नौ सेंटीमीटर वर्षा दर्ज की गयी. इसके अलावा राज्य के अन्य विभिन्न हिस्सों में भी रिमझिम फुहारें पड़ीं.

Live: दिल्ली-एनसीआर में फिर बारिश, जगह-जगह ट्रैफिक जाम की आशंका, गंभीर हो सकता है यमुना नदी का जलस्तर

बारिश से किसानों के चेहरे खिले
इंद्रदेव की इस मेहरबानी से जहां तापमान में खासी गिरावट आयी है, वहीं किसानों के चेहरे भी खिल गये हैं. जून माह और जुलाई के शुरू में अपेक्षा से बहुत कम बारिश होने के कारण धान और अन्य फसलों की बोआई को लेकर किसान चिंतित थे. मगर इस बारिश से उन्हें राहत मिली है. पिछले 24 घंटों के दौरान मेरठ, आगरा, मुरादाबाद और इलाहाबाद में दिन के तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गयी. वाराणसी, इलाहाबाद, झांसी, आगरा तथा फैजाबाद मण्डलों में यह सामान्य से काफी नीचे रहा. अगले 24 घंटों के दौरान भी राज्य के ज्यादातर इलाकों में बारिश होने का अनुमान है.

आगरा में मूसलाधार बारिश से भारी तबाही, 4 की मौत

घाघरा और शारदा नदियां उफान पर
हालांकि केन्द्रीय जल आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक जलभरण क्षेत्रों में व्यापक वर्षा की वजह से घाघरा और शारदा नदियां में उफान आ गयी है. घाघरा नदी एल्गिनब्रिज (बाराबंकी) में खतरे के निशान को पार कर गयी है, जबकि अयोध्या और तुर्तीपार में इसका जलस्तर लाल चिह्न के नजदीक पहुंच रहा है. शारदा नदी पलियाकलां में खतरे के निशान से करीब एक मीटर ऊपर बह रही है. वहीं, शारदानगर में भी यह लाल चिह्न के करीब पहुंच रही है.

गाजियाबाद के वसुंधरा में सड़क धंसी, दो अपार्टमेंट के 80 फ्लैटों पर मंडराया खतरा

मैनपुरी में दीवार गिरने से तीन बच्‍चों की मौत
इस बीच, मैनपुरी से प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक जिले में गुरुवार को बारिश के बीच दीवार ढहने की घटनाओं में तीन बच्चों की मौत हो गयी. करहल थाना क्षेत्र के दोस्तपुर गांव में बारिश के बीच स्कूल से पढ़कर लौट रहे बच्चों पर एक जर्जर मंदिर की दीवार गिर गयी. इस हादसे में कुमारी निशा (नौ) तथा नवनीत (आठ) की मृत्यु हो गयी. ऐसी ही एक अन्य घटना में कुसमरा इलाके में बारिश के बीच एक घर की दीवार ढह जाने से मलबे में दबकर आठ साल की एक बच्ची की मृत्यु हो गयी. (इनपुट एजेंसी)