लखनऊ/देहरादून: उत्तर प्रदेश की राजधानी में शुक्रवार को भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया. जलभराव की समस्या की वजह से सैकड़ों स्कूली बच्चे कई जगहों पर फंसे रहे. घर से निकले स्कूली बच्चें सड़कों व चौराहों पर फंसे रहे और कई बच्चे फ्लाईओवर के नीचे खड़े दिखाई दिए. राजधानी के शामियाना रोड, नाका हिंडोला, अमीनाबाद, हजरतगंज, इंदिरानगर, हरिहरनगर, जानकीपुरम, अलीगंज, नारही, सप्रू मार्ग और गोमतीनगर के कई निचले क्षेत्रों से जल भराव की सूचना है. उधर, मौसम विभाग ने अगले तीन दिनों में उत्तराखंड के अधिकांश हिस्सों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की है.

राजाजीपुरम में रहने वाले अना महेंद्र ने नाराजगी के साथ कहा, “पानी में डूबे शहर को देखकर दुख होता है खास तौर से जब लखनऊ को स्मार्ट सिटी का टैग मिला हो. उन्होंने कहा कि पार्क में पानी जमा होने से सुबह की सैर के लिए कोई जगह नहीं बची है. अधिकारियों ने कहा है कि पानी को बाहर निकालने की पूरी कोशिश कर की जा रही है. शहर के ज्यादातर इलाकों में नाले पूरे भरे हुए हैं और सीवर जाम हैं. कुछ जगहों पर बिजली की आपूर्ति बाधित होने की सूचना है. लखनऊ व आसपास के इलाकों में बीते 12 घंटों से बारिश हो रही है और लेकिन सुबह बारिश तेज हो गई. क्षेत्रीय मौसम विभाग ने दिन में ज्यादा बारिश की संभावना जताई है.

यूपी विधानसभा में विपक्ष का हंगामा, कहा- असंसदीय भाषा का प्रयोग कर रहे हैं सीएम योगी

उत्तराखंड में भारी बारिश के आसार
मौसम विभाग ने अगले तीन दिनों में उत्तराखंड के अधिकांश हिस्सों में भारी बारिश होने की चेतावनी जारी की है. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. देहरादून, रुद्रप्रयाग, चमोली, पौड़ी, नैनीताल और उधमसिंह नगर में भारी बारिश होने का आसार हैं, जिसके बाद जिला प्राधिकरणों और आपदा प्रबंधन टीमों को सतर्क कर दिया गया है. एक अधिकारी ने आईएएनएस को बताया कि अधिकारियों से निचले इलाकों, नदियों के किनारे और भूस्खलन संभावित क्षेत्रों में सतर्कता बढ़ाने के लिए कहा गया है. राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) को हाई अलर्ट पर रखा गया है.

बीते 48 घंटों में 10 लोगों की मौत
अगले 24 घंटों में मसूरी में भी भारी बारिश होने की आशंका है. इस बीच, उत्तराखंड में पहाड़ी क्षेत्रों में बारिश होनी जारी है, जिससे पिछले 48 घंटों में 10 लोगों की मौत हो चुकी है. चमोली जिले के रतगांव में आकाशीय बिजली की चपेट में आकर एक 54 वर्षीय शख्स की मौत हो गई. मृतक की पहचान बाद मोहन के रूप में हुई है. बागेश्वर में भारी बारिश के चलते नौ घर क्षतिग्रस्त हो गए. हरिद्वार में भी भारी बारिश हो रही है.