फैजाबाद: अयोध्या में विराट धर्मसभा को सफल बनाने और भीड़ जुटाने के लिए विश्व हिंदू परिषद और साधु संतों ने सोशल मीडिया का भी जमकर सहारा लिया. धर्मसभा के लिए धार्मिक संगठनों ने न सिर्फ अयोध्या में बड़ा संख्या बल जुटाया है बल्कि अयोध्या की दीवारों को भी पोस्टरों और स्लोगनों से पाट दिया है. एक ओर पोस्टर में जहां राम मन्दिर बनाने का सन्देश है तो साथ ही अयोध्या का नक्शा भी है.

छावनी में तब्दील हुई अयोध्या, चप्पे-चप्पे पर पुलिस का पहरा, 2 लाख ‘रामभक्तों’ के जुटने का दावा

ये सारी तैयारी लोगों को मन्दिर निर्माण में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेने के लिए प्रेरित करने के लिए की जा रही है. कई जगह पर तो ऐसे पोस्टर भी देखने को मिल रहे हैं जिनमें भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की रिपोर्ट का हवाला देते हुए मन्दिर बनाने का औचित्य बताया गया है.

अयोध्या पहुंचे उद्धव ठाकरे, राम जन्मभूमि के महंत को सौंपेंगे ‘शिवनेरी किले’ की मिट्टी

सोशल मीडिया पर वायरल कैंपेन
इस पूरे आन्दोलन में धार्मिक संगठन युवाओं को जोड़ने के लिए सोशल मीडिया का जमकर सहारा ले रहे हैं. सोशल मीडिया पर हैशटैग कैंपेन चलाया जा रहा है जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों विशेषकर युवाओं को पूरी मुहिम से जोड़ा जा सके. खबर लिखने तक #MandirWahinBanayenge ट्विटर हैशटैग को लेकर 18.5 हजार ट्वीट और #Ram Mandir से सम्बंधित 13.1 हजार ट्वीट हो चुके थे. विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने लोगों को इस मुहिम से जोड़ने के लिए सोशल मीडिया पर एक वीडियो साझा किया है.

लोगों तक संदेश पहुंचाने में तकनीक बनी सहारा
इतना ही नहीं धर्मगुरुओं ने धर्मसभा के लिए और भीड़ इकठ्ठा करने के लिए तकनीक का सहारा भी लिया जिसका अनुकूल परिणाम अयोध्या में जुटी रामभक्तों की भीड़ में देखा जा सकता है. पोस्टर के साथ लोगों को जोड़ने के लिए कॉलर टोन और रिंग टोन के जरिए लोगों को धर्मसभा का उद्देश्य और मन्दिर निर्माण आन्दोलन याद दिलाने का काम किया जा रहा है.

चार साल से सो रहे कुंभकर्ण को जगाने आया हूं, मंदिर कब बनेगा मुझे तारीख चाहिए: उद्धव ठाकरे