लखनऊ: हिन्दू महासभा के पूर्व अध्यक्ष कमलेश तिवारी की उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शुक्रवार को हत्या कर दी गई. पहले कमलेश तिवारी की गोली मारकर हत्या की बात सामने आई थी लेकिन डाक्टरों ने किसी धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या की बात कही है. हालांकि पुलिस ने घटना स्थल से एक रिवाल्वर बरामद किया है. पुलिस ने हत्याकांड के आरोपियों की धरपकड़ के लिए कार्रवाई शुरू कर दी है.

 

जानकारी के मुताबिक, हिन्दू महासभा के पूर्व अध्यक्ष रहे कमलेश तिवारी शुक्रवार को यूपी की राजधानी लखनऊ के खुर्शीद बाग स्थित हिंदू समाज पार्टी कार्यालय में थे. बताया जा रहा है कि शुक्रवार सुबह घटना को अंजाम देने वाले बदमाश हिन्दू समाज पार्टी के कार्यालय पहुंचे. इस दौरान वे मिठाई के डिब्बे में रिवाल्वर और धारदार हथियार लेकर आए थे. त्योहारों के सीजन के चलते किसी ने इस पर शक नहीं किया और वे अंदर कमलेश तिवारी के पास पहुंच गए. बताया जा रहा है कि वहां बदमाशों ने चाय पी और धारदार हथियार से कमलेश तिवारी का गला रेता और मौके से फरार हो गए.

हत्यारोपी की तलाश में जुटी पुलिस
घटना की सूचना पर लोगों ने कमलेश तिवारी को आनन-फानन में गंभीर हालत में हॉस्पिटल में भर्ती कराया, जहां उनकी मौत हो गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने घटना की जांच पड़ताल शुरू कर दी है. पुलिस टीम आरोपी की तलाश में जुटी है. उधर, हत्याकांड के बाद इलाके में हड़कंप मचा हुआ है.

पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ दिया था विवादित बयान
बता दें कि हिन्दू महासभा के नेता रहते कमलेश तिवारी ने दिसंबर, 2015 में पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ विवादित बयान दिया था. उनके इस बयान को लेकर काफी हंगामा भी हुआ था. इसके बाद पुलिस ने उन्हें (कमलेश तिवारी) को विवादित बयान के चलते गिरफ्तार कर लिया था. वह फिलहाल जमानत पर थे. इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने अभी हाल ही में कमलेश तिवारी पर लगी राष्ट्रीय सुरक्षा कानून(रासुका) हटा दिया था.