लखनऊ: उत्तर प्रदेश के होमगार्ड मंत्री चेतन चौहान ने कहा कि किसी भी होमगार्ड को नहीं निकाला जाएगा, सभी अपनी दीपावली अच्छी तरह मनाएं. उन्होंने आश्वासन दिया कि कोई भी होमगार्ड बेरोजगार नहीं होगा. चेतन चौहान ने जारी एक बयान में कहा, “अभी तक इस बारे में हमें औपचारिक तौर पर कोई लिखित प्रस्ताव या पत्र हमें नहीं मिला है. होमगार्ड का मानदेय बढ़ने की वजह से कुछ बड़ा बजट जरूर गड़बड़ हुआ है, लेकिन इसके लिए किसी होमगार्ड को निकाला नहीं जाएगा.”

बता दें कि सोमवार के आदेश के मुताबिक, एडीजी के आदेश के बाद 25 हजार होमगार्ड की सेवाएं समाप्त हुई हैं. एडीजी (पुलिस मुख्यालय) बी.पी. जोगदंड की ओर से यह आदेश जारी किया था.

होमगार्ड मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संवेदनशील हैं. जरूर कोई रास्ता निकलेगा. उन्होंने कहा कि इस मामले पर विभागीय बैठक में विचार-विमर्श करेंगे. पुलिस विभाग को होमगार्ड की आवश्यकता है. होमगार्ड विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक बुलाई है. यह सकारात्मक ढंग से चलती है. किसी की नौकरी लेने वाली नहीं है.

बता दें कि पुलिस विभाग ने 25 हजार होमगार्ड जवानों की ड्यूटी समाप्त करने का निर्णय लिया था. थानों में पुलिस बल की कमी की वजह से पिछले दिनों होमगार्ड जवानों को कानून व्यवस्था की ड्यूटी में लगाने का निर्णय लिया गया था. इसके लिए होमगार्ड विभाग ने 25 हजार जवानों को पुलिस ड्यूटी के लिए दिया था, जो थानों से लेकर चौराहों पर ट्रैफिक तक संभाल रहे हैं. होमगार्ड जवानों द्वारा दी गई सेवा के मानदेय का माहवार आकलन एक हते में करने को भी कहा गया है.

सोमवार के आदेश के मुताबिक, एडीजी के आदेश के बाद 25 हजार होमगार्ड की सेवाएं समाप्त हुई हैं. एडीजी (पुलिस मुख्यालय) बी.पी. जोगदंड की ओर से यह आदेश जारी किया था.