लखनऊ: उत्तर प्रदेश के बागपत जिले के रंछाड़ गांव में भारतीय वायुसेना (आईएएफ) का दो सीटों वाला विमान शुक्रवार को दुर्घटनाग्रस्त हो गया. दोनों पायलट सुरक्षित हैं. एमएल-130 माइक्रोलाइट विमान ने गाजियाबाद के हिंडन सैन्यअड्डे से उड़ान भरी थी और यह कथित तौर पर वायुसेना दिवस के लिए अभ्यास कर रहा था.

 

बागपत के पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पाण्डेय ने बताया कि शुक्रवार सुबह वायुसेना के इस बेहद हल्के विमान ने हिंडन वायुसेना अड्डा से उड़ान भरी थी. सुबह करीब पौने दस बजे विमान जब बड़ौत तहसील के रंछाड़ गांव के ऊपर से गुजर रहा था तभी वह विमान नीचे की ओर उतरने लगा, जिसे देख खेतों में काम कर रहे किसान जान बचाने के लिये इधर-उधर दौड़े. देखते-देखते विमान रंछाड़ में किसान आनंद शर्मा के खेत में गिर गया.

VIDEO: सुखोई क्रैश होने से पहले पायलटों ने पैराशूट के कूदकर ऐसे बचाई जान

हादसे में कोई हताहत नहीं
उन्होंने बताया कि हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ है. विमान में बैठे दोनों पायलट दुर्घटना से पहले ही पैराशूट की मदद से बाहर आ गये. उधर, मौके पर पहुंचे जिलाधिकारी आर. कुमार ने बताया कि विमान में दो पायलट सवार थे. दोनों सुरक्षित हैं. विमान को भी ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है. घटना के बाद मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीण एकत्र हो गये. हिंडन वायुसेना के अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर जांच शुरू कर दी है.

चमत्कारः माइक्रोनेशिया में क्रैश होने के बाद समुद्र में तैरने लगा विमान, सभी यात्री सुरक्षित

डीएम ने कहा- सुबह 10 बजे की घटना
बागपत के जिला मजिस्ट्रेट ऋषिरेंद्र कुमार ने बताया कि दुर्घटना सुबह 10 बजे के आसपास बिनौली क्षेत्र के रंछाड़ में हुई. ऋषिरेंद्र कुमार ने कहा कि विमान के आगे के हिस्से को छोड़कर कोई नुकसान नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि विमान एकदम से नीचे गिरा और पेड़ों के बीच में लटक गया. मेरे साथ आईएएफ अधिकारी भी मौके पर मौजूद हैं और हरसंभव काम कर रहे हैं.