गोरखपुर: ट्रेन में सफर कर रहे यात्री की जागरूकता ने मानव तस्करी की शिकार 26 नाबालिग लड़कियों का जीवन बचा लिया. ये सनसनीखेज वाकया मुजफ्फरपुर से बांद्रा जा रही अवध एक्सप्रेस (19040) में सामने आया, जिसमे सफ़र के दौरान एक यात्री को ट्रेन के एस-5 कोच में 2 दर्जन से ज्यादा नाबालिग लड़कियां दिखीं जो बेहद डरी हुई थीं और रो रही रही थीं. आदर्श श्रीवास्तव नाम के इस यात्री को अंदेशा हुआ कि कुछ गलत हो रहा है. Also Read - स्वदेशी का अर्थ जरूरी नहीं कि सभी विदेशी उत्पादों का बहिष्कार किया जाए: RSS प्रमुख भागवत

एक यात्री के ट्वीट से हरकत में आया प्रशासन
उन्होंने तत्परता दिखाते हुए उनकी मदद के लिए ट्वीट किया. उन्होंने अपने ट्वीट में पीएम नरेंद्र मोदी, रेल मंत्री पियूष गोयल और रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा को टैग किया. आदर्श श्रीवास्तव के ट्वीट के बाद रेलवे प्रशासन फ़ौरन हरकत में आ गया और गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन के पहुंचते ही जीआरपी और आरपीएफ की टीम ने ट्रेन को घेर लिया और एस-5 बोगी से 26 बच्चियों को छुड़ा लिया. Also Read - स्मार्टफोन के कारोबार में फिर से उतरी माइक्रोसॉफ्ट, लॉन्च किया सबसे स्लिम फ़ोन

जीआरपी ने ट्रेन से दो संदिग्धों को भी हिरासत में लिया है जिनसे पूछताछ जारी है. पुलिस के मुताबिक़ इसके तार मानव तस्करी से जुड़े हो सकते हैं. अधिकारी का कहना है कि मानव तस्करी से लेकर हर संभावित पहलुओं पर मामले की जांच की जा रही है, उसके बाद ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचा जा सकता है. फिलहाल बच्चियां सुरक्षित हैं और आरोपी हिरासत में. बच्चियों की पहचान की भी कवायद चल रही है. एसपी जीआरपी के मुताबिक प्रथम दृष्टया मामला चाइल्ड ट्रैफिकिंग का लग रहा है. अब तक की पूछ-ताछ में पता चला है कि, इन बच्चियों को बिहार के चंपारण से आगरा ले जाया जा रहा था. उन्होंने कहा की मामले की तफ्तीश के लिए बिहार और आगरा के लिए टीम रवाना कर दी गई है.

सोशल मीडिया पर छाए आकाश
उधर सोशल मीडिया पर यात्री आदर्श श्रीवास्तव की जागरूकता और पहल की जमकर तारीफ़ हो रही है. जिनके एक ट्वीट ने 26 नाबालिग लड़कियों को बचा लिया. अवध एक्सप्रेस में सफर कर रहे यात्री आदर्श श्रीवास्तव ने 5 जुलाई को एक ट्वीट कर जानकारी दी थी कि, वह ट्रेन के एस-5 कोच में सफर कर रहे हैं, जिसमें करीब 25 नाबालिग लड़कियां हैं, जो रो रही हैं और खुद को असुरक्षित महसूस कर रही हैं.

इस ट्वीट पर रेलवे अधिकारियों ने त्वरित कार्रवाई शुरू की और गोरखपुर रेलवे स्टेशन से जीआरपी और आरपीएफ की टीम ने 26 बच्चियों को एस -5 कोच से बरामद कर लिया. लोकगायिका मालिनी अवस्थी ने भी आदर्श श्रीवास्तव की अपने ट्वीट में तारीफ़ की उन्होंने लिखा, ‘आज आप जैसे जागरूक समझदार नागरिकों की दरकार है, ट्विटर के इतिहास में यह दर्ज होगा कि मदद को उठा एक सार्थक ‘ट्वीट’ कैसे पच्चीस बेटियों का जीवन बचा सकता है.’