गाजियाबाद: कविनगर थाना क्षेत्र में शुक्रवार शाम एक समुदाय के किशोरों द्वारा मंदिर का शीशा तोड़ने के मामले में पुलिस ने चार नाबालिगों को हिरासत में लिया है. पुलिस ने इस मामले में चारों नाबालिगों व अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. किशोरों पर आरोप है कि वे लोग खेलने के बहाने से मंदिर में घुसे थे और इस दौरान उन्होंने जानबूझ कर अलमारी का शीशा तोड़ दिया. इस घटना बाद लोगों ने जमकर हंगामा काटा. Also Read - घर से चोरी हुई कवि कुमार विश्वास की फॉर्च्यूनर कार, जांच में जुटी गाजियाबाद पुलिस की टीम

राजस्थान विधानसभा चुनाव: मानवेंद्र सिंह ने कहा- वसुंधरा के खिलाफ चुनौती स्वीकार लेकिन सीएम पद का दावेदार नहीं
Also Read - दीपावली पर बलि के लिए बाल्टी में छिपाकर ले जा रहे थे 1 करोड़ की कीमत के 5 दुर्लभ उल्लू, हुए अरेस्ट

दो घंटे तक हंगामा किया
पुलिस अधीक्षक नगर श्लोक कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि रईसपुर स्थित एक मंदिर में तोड़फोड़ की घटना  को लेकर विनोद पुत्र राधेश्याम निवासी रहीसपुर की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है और आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछ-ताछ कर रही है. घटना के बाद हंगामे और तनाव के माहौल को देखते हुए पुलिस बल तैनात किया गया है. रईसपुर स्थित मंदिर में एक समुदाय के चार किशोरों द्वारा तोड़फोड़ से गुस्साए लोगों ने सेक्टर-23 पुलिस चौकी पर लगभग दो घंटे तक हंगामा किया. Also Read - गाजियाबाद में 38 करोड़ रुपये का 109 किलो सोना बरामद, चार गिरफ्तार

लखनऊ में टूटा यूपी के डिप्‍टी CM का मंच, BJP की ‘कमल संदेश यात्रा’ को कर रहे थे संबोधित

पुलिस अधिकारियों व भाजपा विधायक ने मौके पर पहुंच कर हंगामा कर रहे लोगों को शांत कराते हुए कार्रवाई का आश्वासन दिया. हिरासत में लिए गए किशोरों पर आरोप था कि वे लोग खेलने के बहाने से मंदिर में घुसे और मंदिर के अंदर बनी अलमारी का शीशा तोड़ दिया. इन किशोरों को ऐसा करते हुए एक महिला ने देख लिया. जिसके बाद उसने यह जानकारी स्थानीय लोगों को दी और फिर हंगामा शुरू हो गया. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है.