बांदा: चित्रकूट जिले में पहाड़ी थाना क्षेत्र के नांदी गांव में करवा चौथ व्रत पूजन के दौरान कथित तौर पर प्रेमिका के परिजनों की पिटाई से घायल हुए हिस्ट्रीशीटर प्रेमी की मौत हो गई है. पहाड़ी के थानाध्यक्ष (एसओ) जयशंकर सिंह ने शनिवार को बताया कि 2001 में पहाड़ी थाने से अखिलेश मिश्रा (36) हिस्ट्रीशीटर घोषित था.

उन्होंने बताया कि हिस्ट्रीशीटर अखिलेश मिश्रा अपनी कथित प्रेमिका से गुरुवार की शाम करवा चौथ व्रत पूजन के दौरान मिलने पहुंचा. उसके बाद महिला के घर में परिजनों ने लाठी-डंडों से पीट-पीटकर घायल कर दिया था. घायल हिस्ट्रीशीटर की शुक्रवार को प्रयागराज की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई. उसकी प्रेमिका का इलाज सतना (मध्य प्रदेश) के अस्पताल में चल रहा है. उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है.

कमलेश तिवारी हत्याकांड: 3 आरोपी पकड़े गए, पैगंबर पर टिप्पणी से नाराज होकर की थी हत्या

जयशंकर सिंह ने बताया कि हिस्ट्रीशीटर और महिला के पुराने प्रेम संबंध थे जिनका विरोध करने पर हिस्ट्रीशीटर ने कुछ दिन पूर्व महिला के पति और उसके सास-ससुर को मारपीट कर गांव से निकाल दिया था. उसने महिला के अन्य परिजनों को भी गांव से जाने के लिए धमकाया था. हिस्ट्रीशीटर के खिलाफ पुलिस मुठभेड़ सहित 11 मुकदमे चित्रकूट और सतना की विभिन्न अदालतों में चल रहे हैं. उन्होंने बताया कि हिस्ट्रीशीटर के भाई धर्मेंद्र मिश्रा की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर महिला के परिजनों नीरज, विकास, शानू, नीलेश और गोविंद की तलाश की जा रही है.