नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में एक बार फिर अस्पताल की लापरवाही का मामला सामने आया है. उत्तर प्रदेश के जालौन में सरकारी अस्पताल ने एक गर्भवती महिला को एडमिट करने से इनकार कर दिया. इसके बाद महिला ने सड़क पर ही बच्चे को जन्म दिया. मामला बुधवार का है. लेबरपेन के बाद महिला के परिवार वाले उसे लेकर सरकारी अस्पताल पहुंचे थे. Also Read - बलिया कांड: BJP विधायक बोले- दूसरे पक्ष की FIR दर्ज न होने पर आमरण अनशन करूंगा

परिवार के सदस्यों ने बताया कि बुधवार को लेबरपेन के बाद गर्भवती को लेकर प्राइमरी स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे. लेकिन अस्पताल ने एडमिट करने से इनकार कर दिया और कहा कि तीन दिन बाद लेकर आना. अस्पातल के मना करने के बाद महिला को मजबूरी में सड़क पर ही बच्चे को जन्म देना पड़ा. Also Read - 'मिशन शक्ति' शुरू, CM योगी बोले- बेटियों पर बुरी नजर डालने वालों के लिए UP में कोई जगह नहीं

मौके पर मौजूद अन्य महिलाओं ने उस गर्भवती की मदद की. डिलीवरी के दौरान कपड़ों से घेरा बनाया. इसके बाद महिला ने बच्चे को जन्म दिया. जालौन के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) का कहना है कि यह लापरवाही की बहुत बड़ी घटना है. जांच के बाद दोषी पाए जाने पर संबंधित डॉक्टर और स्टाफ के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

हालांकि, अभी तक अस्पताल के उस स्टाफ की पहचान नहीं हो पाई है, जिसने गर्भवती महिला को अस्पताल से बाहर किया. यूपी में अस्पताल की लापरवाही की यह पहली घटना नहीं है. इससे पहले भी अस्पतालों की लापरवाही की वजह से सड़क पर बच्चे को जन्म देना पड़ा है.