वाराणसी: फूलपुर पुलिस थाना क्षेत्र के थाना गांव में शनिवार की शाम मोदी किट को लेकर दो पक्षों के बीच हुए विवाद के बाद मुसहर समुदाय के लोग उग्र हो गए. आरोप है कि उन्होंने पुलिस पर पथराव किया. इस हमले में फूलपुर के इंस्पेक्टर समेत कई पुलिसकर्मी घायल हो गए. खबर है कि उग्र भीड़ ने पुलिस का टियर गन और एक मोबाइल छीन लिया है. पुलिस की एक बाइक भी कूंच दी गई है. बाद में मौके पर पहुंची पुलिस ने थाना गांव में जमकर तांडव मचाया. कई मुसहरों की मड़इयां फूंक दी गई हैं. Also Read - मुंबई से चलकर वाराणसी पहुंची ट्रेन में 2 यात्री पाए गए मृतक, श्रमिक ट्रेन का है पूरा मामला

मौके पर भारी पुलिस फोर्स तैनात की गई है. समूचे इलाके को सील कर दिया गया है. घटनाक्रम के मुताबिक फूलपुर थाना क्षेत्र के थाना गांव में शनिवार की शाम करीब साढ़े सात बजे मोदी किट (अनाज) को लेकर दो पक्षों के बीच जमकर विवाद हुआ. इसमें एक पक्ष गांव के दबंगों का था और दूसरा मुसहरों का. बताया जा रहा है कि विवाद का असली कारण मुसहरों को मोदी किट न दिया जाना था. मुसहर समुदाय का कहना था कि वो भी बीजेपी के समर्थक हैं. उन्हें भी मोदी किट का खाद्यान्न दिया जाए. Also Read - BHU के पूर्व प्रोफेसर की Coronavirus से हुई मौत, वाराणसी में अबतक 4 ने गंवाई जान

इस घटना को आगामी प्राधानी के चुनाव को भी जोड़कर देखा जा रहा है. इस गांव में दो मुसहर बस्तियां हैं. दोनों दोनों बस्तियों के लोग गोलबंद होकर दूसरे पक्ष से भिड़ गए थे. घटना के बाद मौके पर भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है. पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) मारतंड प्रताप सिंह समेत तमाम पुलिस अफसर व कई थानों फोर्स आरोपितों को पकड़ने में जुटी हुई है. समूचे इलाके को सील कर दिया गया है. एसपीआरए मारतंड प्रताप सिंह ने इस घटना को जातीय संघर्ष बताया है. वो यह नहीं बता सके कि विवाद किस बात शुरू हुआ. उन्होंने कहा कि घटना की गहन जांच-पड़ताल की जा रही है. Also Read - खाई के पान बनारस वाला: धूप में डटे, लाइन में लगे, पान खाने को लोगों में दिखी कुछ ऐसी दीवानगी