इलाहाबाद: यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी की बेटी प्रियंका गांधी की सक्रिय राजनीति में लाने की मांग बढ़ती जा रही है. इस बार तो उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में पोस्टर्स भी लगा दिए गए. इस पर ‘इंदिरा का खून, प्रियंका गांधी कमिंग सून’ लिखा है. इसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही हैं. बता दें कि लंबे समय से कांग्रेस से जुड़े लोग चाहते हैं कि प्रियंका गांधी सक्रिय राजनीति में हिस्सा लें. इस बार चर्चा भी है कि प्रियंका गांधी अमेठी या रायबरेली से चुनाव लड़ सकती हैं. मालूम हो कि अमेठी से कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी व सोनिया गांधी राबरेली से सांसद हैं. Also Read - राहुल गांधी का मोदी सरकार पर हमला, बोले- जब जब देश भावुक हुआ, फाइलें गायब हुईं

Also Read - पंजाब में कांग्रेस का कलह: MP प्रताप सिंह बाजवा के बागी बोल, अमरिंदर सरकार वापस लेगी सिक्‍युरिटी

अमेठी से ही लड़ेंगे राहुल गांधी, रायबरेली से सोनिया की जगह लड़ सकती हैं प्रियंका Also Read - कांग्रेस को फिर लगा बड़ा झटका, पूर्व मंत्री सहित दो बड़े नेताओं ने छोड़ी पार्टी, भाजपा में हुए शामिल

इलाहाबाद में लगवाए गए पोस्टर्स

बताया जा रहा है कि इलाहाबाद के कांग्रेस महासचिव हसीब अहमद ने ये पोस्टर्स लगवाए हैं. इस पर प्रियंका के साथ ही इंदिरा गांधी, सोनिया गांधी, राहुल गांधी की तस्वीर लगी है. प्रियंका गांधी के साथ ही हसीब अहमद की भी तस्वीर इस पर है. पोस्टर पर लिखा है कि ‘इंदिरा का खून, प्रियंका कमिंग सून.’ हसीब के मुताबिक प्रियंका गांधी जल्दी ही राजनीति में आएंगी. इसलिए ‘कमिंग सून’ लिखा हुआ है. बता दें कि हसीब इससे पहले भी प्रियंका गांधी को राजनीति में लाने की मांग करते रहे हैं.

…जब ‘राहुल-प्रियंका गांधी बचा लो हिंदुस्तान’ के नारे से गूंजा कांग्रेस महाधिवेशन

इस बार राजनीति में आ सकती हैं प्रियंका

हसीब द्वारा लगाए ये पोस्ट्स सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. इस बार चर्चा है कि प्रियंका गांधी इस बार 2019 के चुनाव में राजनीति में उतर सकती हैं. वह अमेठी या रायबरेली से चुनाव लड़ सकती हैं. इससे पहले चर्चा है कि प्रियंका गांधी इस बार राहुल गांधी की सलाहकार बनी हुई हैं. वह परदे के पीछे रहकर राहुल गांधी को प्रचार की सलाह दे रही हैं. कांग्रेस नेताओं के अनुसार राहुल गांधी द्वारा अविश्वास प्रस्ताव के दिन पीएम नरेंद्र मोदी को गले लगाने की योजना भी प्रियंका गांधी के साथ बनाई गई थी. इसकी जानकारी किसी को नहीं दी गई थी.