लखनउ: उत्तर प्रदेश सरकार ने सोमवार को कहा कि अगर उन्नाव बलात्कार पीड़ि‍ता के परिवार वाले रायबरेली दुर्घटना की सीबीआई जांच की मांग करते हैं, तो सरकार तैयार है. पुलिस महानिदेशक ओ.पी. सिंह ने यहां मीडियाकर्मियों से कहा कि अगर पीड़ि‍ता की मां या अन्य कोई परिजन आग्रह करता है तो राज्य सरकार रविवार की रायबरेली में हुई दुर्घटना की सीबीआई जांच कराने को तैयार है. ट्रक ड्राइवर और मालिक गिरफ्तार कर लिए गए हैं.

मामले की निष्पक्ष जांच जारी
डीजीपी ने बताया कि पीड़ि‍ता को तीन सुरक्षा गार्ड मुहैया कराए गए थे, जो रविवार को उसके साथ नहीं थे. उन्होंने कहा कि प्रथम दृष्टया लगता है कि यह दुर्घटना है, लेकिन फिर भी मामले की निष्पक्ष जांच जारी है. हादसे की शिकार उन्नाव रेप पीड़ि‍ता के मामले में यूपी डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि उनकी सुरक्षा में कोई लापरवाही नहीं हुई अपने वाहन में जगह की कमी के कारण, उसने सुरक्षा के लिए तैनात सुरक्षाकर्मियों से अनुरोध किया था कि वह कल रायबरेली में उसके साथ न जाए.

प्रथम दृष्टया यह दुर्घटना का मामला
लखनऊ के अपर पुलिस महानिदेशक राजीव कृष्ण ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि उन्नाव के पुलिस अधीक्षक को घटना से जुड़े सभी पहलुओं और हादसे को लेकर लड़की के परिजन द्वारा लगाए जा रहे आरोपों की जांच के आदेश दिए गए हैं. उन्होंने कहा कि प्रथम दृष्टया यह दुर्घटना का मामला लगता है और इसमें अभी तक किसी तरह की गड़बड़ी के सुबूत नहीं मिले हैं. बहरहाल, पूरे मामले की गहराई से जांच कराई जा रही है.

9 सुरक्षाकर्मी उपलब्ध कराए गए हैं
कृष्णा ने बताया कि बलात्कार पीड़िता को कुल 9 सुरक्षाकर्मी उपलब्ध कराए गए हैं. सुरक्षाकर्मियों ने स्थानीय पुलिस अफसरों को बताया है कि रविवार को लड़की और उसके परिजन ने कार में जगह ना होने की बात कहकर किसी भी सुरक्षाकर्मी को अपने साथ ले जाने से मना कर दिया था. बहरहाल, इसकी गहराई से जांच की जा रही है. उन्होंने कहा कि जहां तक परिवार को धमकी दिए जाने की बात है तो उसे पहले ही सुरक्षा मुहैया कराई जा चुकी है. बहरहाल, धमकी की शिकायतों और उस पर हुई कार्रवाई की जांच की जा रही है.कृष्णा ने बताया कि इस मामले में तहरीर आज ही दी गई है, जिस पर मुकदमा लिखा जा रहा है.

लड़की की मां बोली- अक्‍सर जान से मारने की धमकी देते थे
इस बीच, लड़की की मां आशा सिंह का कहना है कि यह दुर्घटना नहीं बल्कि हत्‍या कराने की साजिश थी. उन्‍होंने बलात्‍कार कांड में भाजपा विधायक सेंगर के साथ सह अभियुक्‍त शशि सिंह के बेटे और गांव के एक अन्‍य युवक पर पूर्व में धमकाने का आरोप लगाते हुए कहा कि वे दोनों अक्‍सर जान से मारने की धमकी देते थे.

परिजन ने हत्या की साजिश बताया 
इसके पूर्व, दिल्ली राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने लड़की और उसके परिजन से लखनऊ स्थित ट्रामा सेंटर में मुलाकात की. स्वाति ने बताया कि उन्होंने लड़की से मुलाकात की है और उसने तथा उसके परिजन ने उसकी हत्या की साजिश के तहत वह हादसा कराए जाने का इल्जाम लगाया है. उन्होंने कहा कि वह उस लड़की को न्याय दिलाने की लड़ाई लड़ेंगी.

एयरलिफ्ट कराकर दिल्ली ले जाना चाहती हैं स्वाति मालीवाल 
स्वाति मालीवाल दोनों मरीजों को बेहतर इलाज के लिए एयरलिफ्ट कराकर दिल्ली ले जाना चाहती हैं. दोनों मरीजों के परिजन से बात की जा रही है. साथ ही अन्‍य प्रक्रिया भी पूरी की जा रही है. इलाज का पूरा खर्च दिल्‍ली राज्‍य महिला आयोग उठाएगा. स्‍वाति ने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट को बलात्‍कार कांड का संज्ञान लेते हुए 15 दिन के अंदर सेंगर को सजा सुनाई जानी चाहिए. उन्‍होंने आरोप लगाया कि भाजपा के शासन में पूरे उत्‍तर प्रदेश में गुंडाराज चल रहा है.

सरकार दोनों घायलों के इलाज का पूरा खर्च वहन करेगी
इधर, लखनऊ के जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने बताया कि राज्य सरकार दोनों घायलों के इलाज का पूरा खर्च वहन करेगी. पीड़िता और उसके वकील इस समय केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में भर्ती हैं.

संदिग्ध परिस्थितियों में टक्कर
बता दें भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली लड़की, उसकी चाची पुष्पा और मौसी शीला अपने वकील महेंद्र के साथ रायबरेली जेल में बंद अपने रिश्तेदार महेश सिंह से रविवार को मुलाकात करने जा रही थी. रास्ते में रायबरेली के गुरबख्श गंज क्षेत्र में उनकी कार और एक ट्रक के बीच संदिग्ध परिस्थितियों में टक्कर हो गई थी.

हादसे में दो की मौत हुई 
इस हादसे में शीला (50) ने स्थानीय अस्पताल में दम तोड़ दिया था. वहीं, हादसे में घायल कार सवार पुष्पा (45) को लखनऊ स्थित ट्रामा सेंटर में चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया था.

आरोप लगाने वाली लड़की भी घायल
इस घटना में घायल वकील महेंद्र सिंह की हालत बेहद नाजुक है और वह ट्रामा सेंटर में वेंटिलेटर पर हैं. वहीं, विधायक सेंगर पर आरोप लगाने वाली लड़की भी घायल हुई है, लेकिन उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जाती है.

भाजपा विधायक सेंगर पर बलात्कार का आरोप
इस लड़की ने वर्ष 2017 में उन्नाव से भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाया था. इस मामले में सेंगर को गिरफ्तार किया गया था. मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश की गई है और इस वक्त सेंगर जेल में हैं.

पीड़िता को मारने की साजिश हो सकती: सपा अध्यक्ष अखिलेश
इस मामले पर विपक्ष ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आरोप लगाया है कि यह पीड़िता को मारने की साजिश हो सकती है. उन्होंने प्रकरण की सीबीआई जांच कराने की मांग की.

प्रियंका गांधी वाड्रा ने पूछा- विधायक अभी भी भाजपा में क्यों हैं?
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि दुर्घटना चौंकाने वाली है. प्रियंका ने सवाल किया कि आरोपी विधायक अभी भी भाजपा में क्यों हैं? और पीड़ि‍ता की सुरक्षा में ढिलाई क्यों बरती गई?