नई दिल्‍ली: उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने महाराष्‍ट्र, उत्‍तराखंड और हरियाणा समेत 12 राज्‍यों की सरकारों से कहा है कि आप अपने यहां रह रहे यूपी के लोगों के खाना और रहने की व्‍यवस्‍था कर दें, हम इन व्‍यवस्‍थाओं पर व्‍यय हुई धनराशि चुक्‍ता कर देंगे. Also Read - Summer Vacation Begins in Delhi Schools: दिल्ली के स्कूलों में अब इस दिन से गर्मी की छुट्टियां

यूपी के सीएम योगी ने कहा, हमने 12 राज्‍यों के साथ को-ऑर्डिनेट करने के लिए नोडल ऑफिर नियुक्‍त कर दिए हैं, जहां यूपी के लोग रह रहे हैं. देश में लॉकडाउन के चलते कई राज्‍यों में रोजागार के लिए यूपी से गए लोग फंस गए है और कई राज्‍यों से तो लोग पैदल ही अपने घर जाते हुए मिले. यह देखते हुए यूपी की सरकार ने तुरंत कदम उठाते हुए दूसरे राज्‍यों से संपर्क किया है. Also Read - कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में टीकाकरण सबसे बड़ा हथियार: पीएम मोदी

CS ने अन्‍य राज्यों में रह रहे उप्र के लोगों के रुकने- भोजन की व्यवस्था की अपील की
उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने सीमावर्ती राज्यों के मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर उनसे अनुरोध किया है कि उनके राज्यों में रह रहे उप्र के निवासियों के लिये ठहरने तथा भोजन आदि की जरूरी व्यवस्था की जाए. मुख्य सचिव तिवारी ने कहा कि एक प्रदेश से दूसरे प्रदेश में लोगों के आवागमन से भारत सरकार द्वारा घोषित लॉकडाउन का उल्लंघन होगा तथा कोरोना वायरस के संक्रमण फैलने की आशंका भी अधिक हो जाएगी. Also Read - अब दिल्ली के किसी भी स्टेशन पर नहीं मिलेंगे प्लेटफॉर्म टिकट, जानिए क्यों लिया गया ये फैसला

उत्तर प्रदेश के लोगों से घर खाली नहीं कराएं
मुख्य सचिव तिवारी ने पत्र में यह भी लिखा कि उन राज्यों में उत्तर प्रदेश के निवासियों को ठहराने तथा उनके लिए की गई भोजन आदि की व्यवस्था की सूचना लिखित रूप में उपलब्ध करा दी जाए. उन्होंने ऐसे राज्यों की विभिन्न फैक्ट्री, मिल एवं प्रतिष्ठानों में कार्यरत उत्तर प्रदेश के लोगों से उनके घर खाली नहीं कराने का भी अनुरोध किया है.

महाराष्ट्र से यूपी जाने की कोशिश में ट्रक सवार 40 मजदूर पकड़े गए
ठाणे पुलिस ने शुक्रवार को मुंबई में काम करने वाले 40 प्रवासी मजदूरों को पकड़ा है जो कोरोना वायरस के डर से एक ट्रक में सवार होकर उत्तर प्रदेश में अपने घर जाने की कथित तौर पर कोशिश कर रहे थे. एक पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी दी.

कोरोना वायरस खतरे के डर से वे ट्रक में सवार हुए
पुलिस अधिकारी के अनुसार ट्रक चालक ने पुलिस को बताया था कि वाहन में सब्जियां हैं. कोपड़ी पुलिस थाने के इंस्पेक्टर (अपराध) डी गावड़े ने बताया, “पकड़े गए 40 प्रवासी मजदूर मुंबई में काम करते हैं. कोरोना वायरस खतरे के डर से वे ट्रक में सवार होकर उत्तर प्रदेश में अपने-अपने पैतृक स्थान लौटने की कोशिश कर रहे थे. वे नासिक पहुंचे थे जहां पुलिस ने उन्हे पकड़ लिया और उसी वाहन में उन्हें मुंबई लौट जाने को कहा.”

आईपीसी की धारा 188 के तहत मुकदमा दर्ज
पुलिस अधिकारी ने बताया, पुलिस की कार्रवाई के डर से चालक ने ट्रक को मुंबई की तरफ मोड़ लिया. जब ट्रक ठाणे में आनंद नगर जांच चौकी पर पहुंचा, पुलिस ने वाहन की जांच की और उसमें सवार मजदूरों को देखा. गावड़े ने कहा कि उनसे जब पूछा गया कि वे उत्तर प्रदेश क्यों जा रहे थे, तो मजदूरों ने बताया कि वे मुंबई में कोरोना वायरस के प्रसार से डरे हुए हैं और इसलिए अपने घर लौटना चाहते थे. इन सभी के खिलाफ आईपीसी की धारा 188 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.