झांसी: उत्तर प्रदेश के दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री रघुराज सिंह ने अफसरों और पुलिस के जवानों द्वारा की जा रही सुसाइड के मामले में विवादित बयान दिया है. उन्होंने सुसाइड को लेकर कहा कि जिन्हें दो नंबर का नहीं मिल पा रहा है, वे सुसाइड कर रहे हैं. अफसरों और पुलिस कर्मियों को खिचड़ी रास नहीं आ रही और मलाई उन्हें मिल नहीं पा रही. इसलिए ऐसे नौकरीपेशा लोगों के घर में क्लेश भी बढ़ गया है.

यूपी: VIP ड्यूटी के बाद SDM ने की खुदकुशी, होमगार्ड से रायफल मांग सिर में मार ली गोली

नौकरी छोड़ रिटायरमेंट ले लें
दैनिक जागरण की खबर के अनुसार झांसी पहुंचे राज्यमंत्री रघुराज सिंह ने यूपी में लगातार हो रही ऐसी घटनाओं को लेकर किए गए सवाल पर विवादित जवाब दिया. उन्होंने कहा कि ऐसा कदम वही उठा रहे हैं जो बुझदिल हैं और काम नहीं करना चाहते हैं. उन्होंने यह भी कहा कि सीएम योगी तो सिर्फ चार घंटे सोते हैं. उन्होंने कहा कि सरकार बनते ही सीएम योगी ने कहा था कि जो काम करना चाहते हैं वही नौकरी करें, बाकी छोड़ दें. और रिटायरमेंट ले लें.  हालांकि बाद में वह इस बयान से मुकर गए. और कहा कि घरेलु परिस्थितियों किए चलते सुसाइड हो रही हैं.

महिला सिपाही ने की खुदकुशी, सुसाइड नोट में लिखा- छुट्टी के लिए भीख मांगना पड़े तो ये ठीक नहीं

लगातार हो रही ऐसी घटनाएं
बता दें कि 30 सितंबर को ललितपुर के एसडीएम हेमेंद्र कुमार ने खुद को गोली मार ली थी. एसडीएम ने सुरक्षा में लगे गार्ड से ही रायफल मांग ये कदम उठाया था. परिजनों ने इसके पीछे काम का दबाव बताया था. इस घटना के एक दिन पहले ही बाराबंकी में महिला सिपाही, बांदा में महिला सिपाही ने सुसाइड किया था. 2 अक्टूबर को कानपुर में पुलिस कर्मी ने फील्ड में ड्यूटी के दौरान खुद को गोली मार ली थी. इसी बीच झांसी में तनाव के चलते सीआईएसएफ के जवान ने पत्नी व दो बच्चों की हत्या कर दी थी. इससे पहले उसने अपने लिए भी सुसाइड नोट लिखा था, लेकिन जान देने की बजाय फरार हो गया. इस मामले में भी काम के दबाव की बात कही गई थी. इनमें से कई ने अधिकारियों द्वारा उत्पीड़न और छुट्टी नहीं मिलने पर ये कदम उठाया.

BJP सांसद ने मोदी सरकार को दिए जीरो नंबर, बोले- 4 साल में भ्रष्टाचार बढ़ा, 2019 क्रांतिकारी होगा