लखनऊ: आज सुबह से शुरु हुई बारिश ने शहर को एक बार फिर अस्तव्यस्त कर डाला. राजधानी में पिछले कुछ दिनों से हो रही बारिश ने लोगों को जमकर परेशान किया है. जगह जगह जलभराव और घरों में कैद हुए लोगों ने सोशल मीडिया का सहारा लिया है. कोई तंज कस रहा है, कोई मजाक बना रहा है, तो वहीं कोई इतना कंफ्यूज है कि पता ही नहीं चल रहा कि लखनऊ में है या चेरापूंजी में.

शहर की सड़क किसी स्वेटर की तरह उधड़ गई
लखनऊ के कुछ युवाओं ने ट्विटर पर बारिश और शहर के खस्ताहाल पर तंज कसते हुए अपने दर्द को बयां करने में कुछ ऐसी क्रिएटिविटी दिखाई कि ट्वीट पढ़ने से ही बारिश की आफत मजेदार लगने लगती है. बारिश के बाद सड़कों की जो हालत है उस पर माई लखनऊ पेज पर ट्वीट करते हुए ट्विटराती ने सरकार का मजाक बनाया है कि “शहर की सड़क किसी स्वेटर की तरह उधड़ गई है। बारिश के बाद इतनी सड़क बनाने में पसीने छूट जायेंगे। हाँ, अगर सड़क बनाई तो.”

‘बीइंग निक्की’ सुझाव देती हैं कि ‘सरकार को अब शहर में नाव सेवा शुरु कर देनी चाहिए क्योंकि गाड़ियां तो पहले से तैर रही हैं.’

नगर निगम और सरकार फिर से फेल
अंकित साहू ने डूबी सड़कों का वीडियो पोस्ट करते हुए तंज कसा है कि सरकार फिर फेल हो गई.

उधर आदित्य गुप्ता की शायरी तो ऐसी है कि बड़े बड़े शायर भी फेल हो जाएं. आई एम आदि गुप्ता लिखते हैं “स्काई इस रेनिंग, आई एम फीलिंग नाईस बट लोगों की फ्लड के डर से हवा टाइट, योगी लगते हैं कभी कभी राइट, जय शिव शम्भू बोल के रहो आलराइट.”

बारिश से उधडी हुई सड़कों की तस्वीर साझा करते हुए अनिल तिवारी ने सटीक कटाक्ष करते हुए लिखा है, “ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी.”

वहीँ ट्विटर पर गोमती नदी भी युवाओं से अछूती नहीं है. दीपेन्द्र गोमती नदी की तस्वीर साझा करते हुए तंज करते हैं कि ‘गोमती नदी की खुशबू अच्छी है.’