नई दिल्ली: कानपुर के बिठुर इलाके में अफसरों सहित आठ पुलिस कर्मियों की बेरहमी से हत्या कर देने वाला विकास दुबे अपराधों में अकेला शरीक नहीं था. विकास दुबे का परिवार भी सहयोगी भूमिका में था. विकास दुबे की पत्नी रिचा दुबे की भूमिका भी जिस तरह से सामने आई है, वह चौंकाने वाली है. रिचा अपने पति को पुलिस से बचाने के लिए जिस तरह के कदम उठाती थी, उससे कई बार पुलिस भी मात खा चुकी थी. अब रिचा पुलिस की रडार पर है. Also Read - विकास दुबे के गांव में दबिश देने से पहले का पुलिस का ऑडियो अब हुआ वायरल, पूर्व SSP की बढ़ेगी मुसीबत

विकास दुबे की पत्नी जिला पंचायत सदस्य है. रिचा का राजनीति में दबदबा विकास की आपराधिक पृष्ठभूमि के कारण ही था. रिचा कानपुर में बच्चों के साथ रहती है. अमर उजाला की एक खबर के अनुसार रिचा विकास का पूरा साथ देती थी. रिचा ने लखनऊ में रहते हुए भी बिठूर के चौबेपुर इलाके में किले नुमा घर के हालात पर पूरी नज़र रखती थी. इस घर से ऐसे सीसीटीवी कैमरे लगे थे, जो सीधा रिचा के फोन से जुड़े थे. पुलिस ने जब कभी भी विकास को पकड़ा तो रिचा तुरंत ही सीसीटीवी के ये फुटेज सोशल मीडिया पर वायरल कर देती थी. रिचा ऐसा इसलिए करती थी कि कहीं विकास का पुलिस एनकाउंटर न कर दे. Also Read - Kanpur Encounter: विकास दुबे के सहयोगी जय बाजपेयी पर मामला दर्ज, काली कमाई को करता था निवेश

रिचा को विकास के अपराधों की जानकारी रहती थी. रिचा हर हालात पर नज़र रखती थी. बिठूर के बिकरू इलाके के किले नुमा घर में कौन आता-जाता है, सब पर रिचा लखनऊ में रहकर ही नज़र रखती थी. पुलिस को इस सम्बन्ध में कई सुबूत मिले हैं. पुलिस इन बिन्दुओं पर भी जांच को आगे बढ़ा रही है. Also Read - विकास दुबे को मिली बेल से ''स्तब्ध'' SC, यूपी सरकार से कहा- विधि का शासन बनाए रखना होगा

विकास दुबे का अब तक कोई सुराग नहीं लगा है, जबकि दयाशंकर अग्निहोत्री नाम का एक गुर्गा पकड़ा गया है. विकास ने पुलिस के आने से पहले किस तरह से तैयारी कर ली थी, इसकी जानकारी उसने पुलिस को दी है. इसके साथ ही ये भी खुलासा हुआ है कि पुलिस विकास को पकड़ने पहुँच रही है, इसकी जानकारी पुलिस ने ही विकास तक पहुंचाई थी. विकास दुबे पर ढाई लाख का इनाम घोषित कर दिया गया है. उसे पकड़ने के लिए 40 थानों की पुलिस और एसटीएफ भी लगी हुई है.