आगरा: एससी/एसटी एक्ट के विरोध में उतरने और केंद्र सरकार को कानून में बदलाव के लिए दो माह का समय देकर चेताने वाले देवकीनंदन ठाकुर को हिरासत में ले लिया गया. कथावाचक देवकी नंदन को आगरा में पुलिस ने हिरासत लिया. वह आगरा के एक रेस्टोरेंट में प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे, इसी दौरान यहां भारी मात्रा में पहुंची पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया. उन्होंने इसे लोकतंत्र की हत्या करार दिया है.Also Read - UP Police ASI SI Exam 2021: एसआई, एएसआई भर्ती परीक्षा कल से हो शुरू, परीक्षा केंद्र पर इन नियमों का पालन करना अनिवार्य

Also Read - राजस्थान की महिला कांस्टेबल से यूपी में गैंगरेप, एक निलंबित DSP और पूर्व सरपंच पर आरोप

एससी-एसटी एक्ट पर बोले अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा के अध्यक्ष, पुनर्विचार करे केंद्र सरकार Also Read - UP में एक ही परिवार के 4 लोगों की हत्‍या के केस में एक आरोपी गिरफ्तार, मृतक युवती के साथ रेप की पुष्टि

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा एससी/एसटी एक्ट में बदलाव के आदेश को केंद्र सरकार ने पलट दिया था. सुप्रीम कोर्ट ने एक्ट के तहत होने वाली तुरंत गिरफ्तारी लगाते हुए पहले मामलों में जांच की बात कही थी. इसके बाद केंद्र सरकार ने संसद में इस आदेश को पलट दिया. और एससी/एसटी एक्ट के तुरंत गिरफ्तारी वाले स्वरूप को बहाल कर दिया था. इसके बाद से सवर्ण इस फैसले के विरोध में हैं. भारत बंद भी बुला चुके हैं. जाने-माने कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर भी इसका विरोध कर रहे हैं. उन्होंने कुछ दिन पहले कहा था कि दो माह में अगर केंद्र फैसले पर विचार नहीं करती है तो दो माह में वह ऐसा करेंगे जो कभी नहीं हुआ होगा. इसी बीच आज देवकीनंदन आगरा में थे. आगरा में वह इस मुद्दे को लेकर प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे.

यूपी में एससी-एसटी एक्ट को लेकर सवर्ण संगठनों का प्रदर्शन, वाराणसी में चक्‍काजाम व आगजनी

पुलिस के अनुसार, आगरा के एक इलाके में सभा करने की योजना थी, इसकी इजाजत नहीं दी गई थी. देवकीनंदन के आगरा में भी घुसने की इजाजत नहीं दी गई थी. इसके बाद भी वह आगरा आए. आगरा के एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि देवकीनंदन को पुलिस हिरासत में लिया गया है. पुलिस लाइन में उनसे पूछताछ की जा रही है कि आखिर आगरा आने का मकसद क्या है. उन्होंने बताया कि देवकीनंदन ने कहा कि वह किसी बीमार शख्स के हालचाल लेने आए थे, लेकिन वह प्रेस कांफ्रेंस कर रहे थे.