ललितपुर: हैवान बने पिता ने अपनी तीन मासूम बच्चियों की हथौड़े से हमला कर जान ले ली. इसके बाद उसने शवों को जलाने का प्रयास किया. घटना को अंजाम देने वाले पिता ने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया है. पुलिस को आरोपी ने बताया कि उसे बेटियों की चिंता थी, इसलिए उसने ये कदम उठाया. उसके मुताबिक उसका भाई उसे जान से मारना चाहता था. उसने सोचा कि वह मर जायेगा तो बेटियों का क्या होगा, इसलिए उसने चिंता में आकर बेटियों को मारने का फैसला किया.

ब्लैक बोर्ड पर सुसाइड नोट लिख शिक्षक ने किया आत्मदाह

सोते समय सुबह चार बजे ली जान
घटना यूपी के ललितपुर जिले के बानपुर की है. बानपुर थाना इलाके के वीर गांव का है. बताया जा रहा है कि यहां के रहने वाले छदामी नाम के शख्स रहता था. छदामी ने आज मंगलवार को सुबह करीब चार बजे अपनी तीन बेटियों पर हमला कर दिया. हमले के समय 10 वर्षीय अंजलि, 7 वर्षीय राधिका, 4 साल की पुत्तु सो रही थी. छदामी ने तीनों पर सोते समय ही हमला किया. इसके बाद उसने तीनों को जलाने का प्रयास किया. उसने गैस सिलिंडर में आग लगा दी. शोर सुनकर लोग एकत्रित हो गए. लोगों को आता देख छदामी खुद की भी जान लेने की कोशिश करने लगा. लोगों ने उसे पकड़ लिया. मौके पर पहुंची पुलिस ने बच्चियों को हॉस्पिटल भेजा जहां तीनों को मृत घोषित कर दिया गया.

यूपी: नाबालिगों को शादी के लिए बेच करा रहे थे देह व्यापार, 7 गिरफ्तार

पत्नी, भाई से हुआ था झगड़ा
पूछताछ में छदामी ने पुलिस को बताया कि उसकी पांच बेटियां हैं. दिवाली के एक दिन पहले उसका पत्नी से झगड़ा हुआ. पत्नी मायके चली गई और बेटियों को छोड़ गई. इधर, उसे उसके भाई ने ही झगड़े के बाद जान से मारने की धमकी दी. उसे लगा कि भाई मार ही देगा और अगर वह मर गया तो फिर बेटियों का ख्याल कौन रखेगा, पत्नी भी नहीं है, यही सोचकर उसने अपनी तीन बेटियों को मार दिया. पुलिस ने बताया कि आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा जा रहा है.