Chinmayanand rape case update news: पूर्व केन्द्रीय मंत्री और भाजपा नेता चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाले लॉ की छात्रा अपने विशेष कोर्ट में अपने बयान से पलट गई है. इस बहुचर्चित मामले में कोर्ट में अचानक यह मोड़ सामने आज मंगलवार को कोर्ट की सुनवाई के दौरान सामने आया है. Also Read - Good News For Home Gaurd: 25000 पीआरडी जवानों के लिए बड़ी खुशखबरी, अब पूरे साल मिलेगी ड्यूटी

शाहजहांपुर निवासी कानून की छात्रा की पूर्व केंद्रीय गृहराज्‍य मंत्री चिन्मयानंद पर यौन शोषण करने का आरोप लगाया था.पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद से पांच करोड़ रुपए बतौर रंगदारी मांगने की आरोपी छात्रा रंगदारी मांगने के मामले में पिछले 25 सितंबर 2019 से जेल में बंद इसी छात्रा ने चिन्मयानंद पर बलात्कार का आरोप लगाया था इस प्रकरण में चिन्मयानंद को गत 20 सितंबर 2019 को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था. Also Read - Bank Robbery in Greater Noida: बैंक लूट मे शामिल दो आरोपी गिरफ्तार, चेकिंग के दौरान पुलिस के हत्थे चढ़े बदमाश

बता दें कि इस मामले के सामने आने पर न्यायालय ने उत्तर प्रदेश सरकार को इस महिला के आरोपों की जांच के लिए आईजी स्तर के अधिकारी की अध्यक्षता में विशेष जांच दल गठित करने का निर्देश भी राज्य सरकार को दिया था. इस ला की  छात्रा ने पूर्व केंद्रीय गृहराज्‍य मंत्री चिन्मयानंद पर उसे परेशान करने के आरोप लगाए थे और इसके बाद वह लापता हो गई थी. बाद में वह राजस्थान में मिली थी. विशेष जांच दल ने इस मामले में चिन्मयानंद को 21 सितंबर, 2019 को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था. कानून की इस 23 वर्षीय छात्रा पर भी जबरन उगाही का मामला दर्ज किया गया था. Also Read - थाने में प्यार, इकरार: फिर पुलिस वाली लड़की ने सिपाही प्रेमी को खौफनाक तरीके से मारा, और...

स्‍वामी सुखदेवानंद विधि महाविद्यालय में एलएलएम करने वाली एक छात्रा ने 24 अगस्त 2019 को एक वीडियो वायरल करके कहा था कि एक संन्यासी ने कई लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर दी है और उसे और उसके परिवार को इस संन्यासी से जान का खतरा है.

चिन्मयानंद प्रकरण की जांच करने वाली एसआईटी टीम ने भाजपा के दो नेताओं को भी आरोपी बनाकर आरोप पत्र दाखिल किया था, जिसमें सहकारी बैंक के अध्यक्ष डीपीएस राठौर तथा भाजपा नेता अजित सिंह के नाम का जिक्र था. आरोप है कि उन्होंने पीड़िता से राजस्थान के दौसा में जब पीड़िता बरामद हुई थी, तब इन्हीं दोनों नेताओं ने उससे पेनड्राइव छीन ली थी. इस पेन ड्राइव में स्वामी चिन्मयानंद का मालिश वाला वीडियो था.