बहराइच (उत्तर प्रदेश): घर के बाहर मौजूद एक आठ साल की बच्ची को तेंदुए ने पकड़ लिया. तेंदुए ने लड़की को मुंह में दबा लिया और जंगल की ओर ले जाने की कोशिश करने लगा. घबराई लड़की ने हाथ पैर पटके. वह चीखने लगी. चीखें सुन लोग एकत्रित हो गए. इसके बाद तेंदुआ उसे छोड़ कर भाग गया. इसके बाद भी लड़की को बचाया नहीं जा सका. इससे उसकी मौत हो गई.Also Read - भारत में 2 सालों में पेड़, वन क्षेत्र में 2261 वर्ग KM की बढ़ोतरी हुई : ISFR Report

घटना उत्तर प्रदेश के बहराइच के धोबियानपुर गांव की है. तेंदुए के हमले में एक आठ वर्षीय बच्ची की मौत हो गई. कतर्नियाघाट वन्यजीव अभयारण्य के पास जब लड़की अपने घर के बाहर थी तभी तेंदुए ने उस पर हमला किया. प्रभागीय वनाधिकारी (डीएफओ) जीपी सिंह के अनुसार, “तेंदुए ने लड़की को पकड़ लिया और उसे वन क्षेत्र में ले जाने की कोशिश कर रहा था. ग्रामीणों ने उसकी चीखें सुनीं और चिल्लाना शुरू कर दिया. तेंदुआ फिर लड़की को छोड़कर जंगल के अंदर भाग गया.” Also Read - Leopard Attacks Dog: घर में कूदकर तेंदुए ने कुत्ते पर कर दिया अटैक, फिर जो हुआ हिलाकर रख देगा- देखें वीडियो

लड़की की मौके पर ही मौत हो गई और उसके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया. डीएफओ ने कहा कि ग्रामीणों से कहा जा रहा है कि वे शाम को अकेले बाहर न निकलें. इससे पहले 4 जून को, दल्लापुरवा गांव में एक तेंदुए ने तीन साल के बच्चे को मार डाला था और उसी दिन पाठा गौड़ी में एक वन कर्मियों और दो पुलिसकर्मियों सहित सात लोगों को घायल कर दिया था. वन विभाग ने बाद में उस तेंदुए को पकड़ लिया था. Also Read - UP: 9800 करोड़ की सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना, लाखों किसानों की ऐसी बदलेगी किस्‍मत