नई दिल्ली: फिरोजाबाद निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा चुनाव लड़ने के अपने फैसले की आधिकारिक घोषणा करते हुए प्रगति समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल यादव ने रविवार को कहा कि वह किसी को चाचा या भतीजा के रूप में नहीं देखेंगे. शिवपाल ने कहा कि वह सिर्फ विरोधियों के रूप में देखेंगे. फिरोजाबाद सीट वर्तमान में सपा महासचिव राम गोपाल यादव के बेटे अक्षय यादव के पास है. रविवार को अपने निर्वाचन क्षेत्र में अक्षय ने कहा था कि शिवपाल के चुनाव लड़ने से कुछ भी नहीं बदला है. अक्षय ने कहा था कि शिवपाल बीजेपी के आदमी के तौर पर कचरा फैलाने आए हैं.

फिरोजाबाद में ‘हैं तैयार हम’ रैली में शिवपाल ने कहा कि जिन लोगों ने सपा का लाभ उठाया उन्हें हटा दिया था और अब उन पर बीजेपी की बी-पार्टी होने का आरोप लगा रहे हैं. अब जब मैंने घोषणा कर दी है कि मैं चुनाव लड़ूंगा, तो कोई चाचा या भतीजा नहीं होगा. हम सिर्फ विरोधी हैं. अब मुझे भाई, या भतीजे या परिवार पर विचार करने की आवश्यकता नहीं है. मुझे केवल यह देखना है कि देश और राज्य कैसे प्रगति कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि वह भाजपा सरकार को सत्ता से हटाना चाहते हैं और समान विचारधारा वाले धर्मनिरपेक्ष दलों के साथ गठबंधन के लिए तैयार हैं.

अपने भाई और सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के बारे में शिवपाल ने कहा कि भले ही मुलायम ने उनकी पार्टी की तरफ से चुनाव लड़ने के निमंत्रण को स्वीकार नहीं किया, लेकिन मैं सपा संस्थापक का समर्थन कूंगा. शिवपाल ने कहा कि नेताजी जहां से चुनाव लड़ेंगे उन्हें जीत दिलाएंगे. मुझे लगता है कि समाजवादी पार्टी जिस स्थिति में थी, जिस ऊंचाई पर थी. इसके बारे में सोचें. शिवपाल ने कहा कि 236 में से 47 विधायक ही क्यों पहुंचे. हमने हमेशा नेताजी का सम्मान किया है और ऐसा करते रहेंगे. हम हमेशा साथ रहेंगे.

शिवपाल ने कहा कि मैंने कभी नहीं सोचा था कि नेताजी के होने के बावजूद हमारा परिवार इस तरह टूट जाएगा. आपको याद होगा कि लखनऊ में मैंने वादा किया था कि जब तक अखिलेश मुख्यमंत्री रहेंगे तब तक मैं इस पद पर नहीं रहूंगा. मैंने यहां तक कहा कि अगर नेताजी का सम्मान किया जाता है, तो बुजुर्गों का सम्मान किया जाता है, मुझे कोई टिकट मत दीजिए मैं फिर भी अपने प्रत्याशी को जीत दिलाऊंगा. उन्होंने कहा कि आखिर कोई कितना अपमान सह सकता है उसकी सीमा है.

पार्टी ने रामपुर से कार्यकर्ता संजय सक्सेना और मेरठ से कवयित्री अनामिका अंबर की उम्मीदवारी की भी घोषणा की. ये दोनों पहली बार चुनाव लड़ रहे हैं. बता दें कि प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया बनाने वाले शिवपाल सिंह यादव को चुनाव आयोग ने चुनाव चिन्ह चाबी आवंटित कर दिया है.