लखनऊ: कांग्रेस सहित अन्य पार्टियों के भारत बंद और महंगाई के खिलाफ हुए प्रदर्शन के ठीक एक दिन बाद आज सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक बार फिर बीजेपी की राज्य व केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि बीजेपी के लोग लोगों को परेशान करने के लिए एक्सपेरिमेंट करते हैं. ये देखते हैं कि किस योजना से कितने लोग परेशान होंगे. वो ये भी चेक करती है कि लोगों में कितना गुस्सा है. नोटबंदी के दौरान पूरे देश के लोग परेशान हो गए. इसी तरह से समय-समय पर ऐसे फैसले थोपे गए, जिससे लोग परेशान हुए.

राहुल गांधी के सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा, नया पीएम-नई सरकार चाहता है देश

कांग्रेस भी महंगाई के लिए जिम्मेदार
उन्होंने महंगाई को लेकर लेकर कहा कि अगर मायावती कहती हैं कि कांग्रेस भी महंगाई के लिए जिम्मेदार है तो इसमें उन्होंने कुछ गलत नहीं कहा. अगर कांग्रेस की सरकार इतनी महंगाई नहीं बढ़ाती तो बीजेपी की सरकार ज्यादा महंगाई नहीं बढ़ा पाती. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार तय करती है कि कितना पेट्रोल-डीजल बाहर जाएगा, कितना देश में आएगा. इसके दामों के लिए भी केंद्र ही जिम्मेदार है.

बीजेपी सबसे बड़ी जातिवादी पार्टी
भ्रष्टाचार के आरोप पर उन्होंने कहा कि आजकल मौसम अच्छा है. बीजेपी सरकार के मंत्री आएं और मेरे साथ खाली पड़े स्विमिंग पूल में नहाएं, हम वहीँ तय कर लेंगे कि भ्रष्टाचार किसकी सरकार में ज्यादा है. बीजेपी कहती है कि सब कोर्ट हमारे हैं. सब जज हमारे हैं. हम विपक्षी क्या कर सकते हैं. सब तुम्हारे ही हैं फिर हमारी तो सिर्फ जनता है. उन्होंने कहा कि बीजेपी से ज्यादा जातिवादी पार्टी दूसरी नहीं है. बीजेपी जाति के अंदर की जाति भी तलाश लेगी. और अगर इससे अंदर की बात भी पता चल जाए तो वह भी निकाल लेगी. युवाओं, महिलाओं द्वारा नौकरी के लिए सिर मुंडवाने के सवाल पर भी उन्होंने तंज कसा.

अखिलेश यादव का बीजेपी पर बड़ा हमला, ’73 प्लस’ की बात करने वाले अपने आंकड़े दुरुस्त कर लें’

जो रोज सिर मुंडाते हैं उन्होंने कितने पाप किए हैं
सीएम योगी के बयान पर कि जिन्होंने पाप किए हैं उन्हें सिर मुंडवाने पड़ रहे हैं, पर अखिलेश ने कहा कि जो लोग हर तीसरे दिन सिर मुंडाते हैं फिर उन्होंने कितने पाप किए होंगे. अगर युवा नौकरी मांगते हैं तो ये कहते हैं कि पाप किए होंगे. अयोग्य कह देते हैं. ये क्या बात हुई. किसानों को फसल का भाव नहीं मिल रहा है. नौजवान को नौकरी नहीं मिल रही है. व्यापारी दुखी है. परेशानी है. देश बर्बाद हो रहा है. जांचें हो रही हैं. कांग्रेस की जांच हो रही है. हमारी भी जांच हो रही है. इससे लग रहा है कि चुनावी तारीख जल्दी आ रही है. रिवर फ्रंट के रख-रखाव के सवाल पर उन्होंने कहा कि अकेला रहने वाला कोई रिवर फ्रंट क्या जानेगा.