लखनऊ (यूपी): राजधानी लखनऊ के पॉश इलाके विभूतिखंड में गैस एजेंसी के कैशियर की हत्या कर 10 लाख रुपए लूटने के मामले का खुलासा करने के लिए लखनऊ पुलिस की कुल 12 टीमें बनाई गई हैं. लखनऊ पुलिस ने आरोपियों की सूचना देने पर 50 हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा की है. लखनऊ पुलिस को सीसीटीवी में फुटेज में बाइक पर भाग रहे आरोपी दिखे हैं, लेकिन हेलमेट और चेहरा ढंके होने के कारण उनकी पहचान नहीं हो पा रही है. इलाके के और भी सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं. वहीँ, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने मृतक कैशियर के परिजनों को 5 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है. मृतक के परिजनों ने 10 लाख रुपए और सरकारी नौकरी की मांग की थी.

लखनऊ में फिर सनसनी: सबसे पॉश इलाके में कैशियर की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या, 10 लाख लूटे

सोमवार को सुबह हुई थी घटना
बता दें कि सोमवार को सुबह 11 बजे राजधानी लखनऊ में बेखौफ बदमाशों ने एक बार फिर बड़ी वारदात को अंजाम दिया था. बदमाशों ने लखनऊ के सबसे पॉश इलाका माने जाने वाले गोमती नगर के विभूतिखंड में गैस एजेंसी के कैशियर की गोली मारकर 10 लाख रुपए लूटकर फरार हो गए थे. कैशियर बैंक ऑफ़ इंडिया में रुपए जमा करने जा रहा था. कैशियर को गंभीर हालत में अस्पताल ले जाया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया. कैशियर श्याम सिंह विभूतिखंड इलाके में ही परिवार के साथ रहते थे.

जब तक कश्मीर में हिंदू राजा था, तब तक वहां हिंदू और सिख सुरक्षित थे: सीएम योगी

घटना से सनसनी

घटना से सनसनी फैल गई थी. बड़ी मात्रा में पुलिस और अधिकारी मौके पर पहुंचे. पुलिस ने बताया कि गैस एजेंसी के कर्मचारियों से पूछताछ की जा रही है. फोरेंसिक टीम को भी लगाया गया है. एक सीसीटीवी फुटेज में पुलिस को आरोपी बाइक पर भागते हुए दिख रहे हैं. लेकिन उनके चेहरे ढंके हुए हैं. इससे उनकी पहचान नहीं हो पा रही है. पुलिस ने ह्त्या कर लूट करने वाले को 50 हजार के इनमा की घोषणा की है.