लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राफेल मामले में उच्चतम न्यायालय के निर्णय के बाद कांग्रेस पर गम्भीर आरोप लगाते हुए शुक्रवार को कहा कि कहीं ऐसा तो नहीं कि क्वात्रोची और मिशेल जैसे दलालों की दाल ना गलने की वजह से राहुल गांधी और उनकी पार्टी ने इस मुद्दे पर अनर्गल आरोप लगाते हुए देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया.

राफेल डील पर लोकसभा में हंगामा, राहुल से माफी की मांग, अनिल अंबानी ने किया फैसले का स्वागत

मुख्यमंत्री ने उच्चतम न्यायालय के राफेल सौदों की जांच वाली याचिकाओं को खारिज करने के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘देश राहुल गांधी से जानना चाहता है कि उनकी सूचना का स्रोत क्या है. किसके कहने पर उन्होंने अनर्गल आरोप लगाकर भारत की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करने का प्रयास किया था. कहीं ऐसा तो नहीं कि किसी मिशेल या क्वात्रोची सरीखे दलालों की दाल न गलने की वजह से कांग्रेस को मौका ना मिला हो और उसने देश की सुरक्षा से खिलवाड़ किया हो.’ वे कौन लोग हैं जो भारत की बढ़ती हुई सुरक्षा क्षमता को देखना नहीं चाहते.

राफेल डील टाइमलाइन: 16 साल पहले शुरू हुई थी खरीदी की प्रक्रिया

उन्होंने कहा, देश की सबसे पुरानी पार्टी होने के नाते कांग्रेस और उसके नेता को जिम्मेदारी का परिचय देना चाहिये था. अदालत के फैसले के बाद कांग्रेस का झूठ साबित हो चुका है. राहुल गांधी को राफेल मुद्दे पर राजनीतिक लाभ के लिये देश की छवि को खराब करने के लिये देश की जनता और सेना ने माफी मांगनी चाहिये.’ योगी ने कहा, ‘कांग्रेस के शासनकाल में देश के रक्षा सौदों में दलाली होती रही. मिशेल जैसे दलालों को परश्रय देकर देश की सुरक्षा और सम्मान के साथ जिस तरह के खिलवाड़ होते रहे हैं उसी तरह कांग्रेस अब भी खिलवाड़ करती दिखायी दे रही है.’