लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को उत्तर प्रदेश पुलिस की ओर से आयोजित आरक्षी प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन किया. उन्होंने कहा कि एक वर्ष में पुलिस ने उत्तर प्रदेश की छवि बदलने का सराहनीय प्रयास किया है. मुख्यमंत्री ने इंदिरा भवन में कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘जब हमने सत्ता संभाली थी, तब आमजनों में असुरक्षा का भाव था, लेकिन आज पुलिस बल के प्रयास से 1 साल के अंदर उत्तर प्रदेश की इस छवि को पुलिस ने बदलने का काम किया है.’ मुख्यमंत्री ने कहा कि समय के साथ पुलिस को बदलना होगा और पुलिस उस दिशा में लगातार काम कर रही है, जो प्रशंसनीय है. Also Read - PM मोदी ने विंध्य क्षेत्र को दी 5,555 करोड़ रुपये की पेयजल परियोजना की सौगात, बोले- शुद्ध पानी से बीमारियां हो रही हैं कम

Also Read - UP की Court ने 100 साल की बुजुर्ग महिला से रेप के दोषी को सुनाई उम्रकैद

गाय छूने से पहले कई बार सोचें मुस्लिम, जागरूकता से बढ़ी मॉब लिंचिंग: विनय कटियार Also Read - उत्तर प्रदेश सरकार में ग्रुप ‘सी’ के पदों पर भर्ती प्रक्रिया में बदलाव, अब ऐसे होगी परीक्षा

योगी ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से नवनियुक्त प्रशिक्षुओं को बताया, “हमारी सरकार एसटीएफ व एटीएस की मजबूती, साइबर क्राइम के लिए नए थाने व पीएससी की कंपनियों के पुनर्गठन का काम कर रही है. उन्होंने कहा कि ‘हम हर प्रकार की स्थिति में काम करने के लिए पुलिस को तैयार कर रहे हैं. प्रशिक्षु अपने आप को भाग्यशाली समझें कि वे उत्तर प्रदेश पुलिस में शामिल हो रहे हैं. अगर फोर्स में अनुशासन नहीं है तो वे जीवन में कुछ नहीं कर सकते.’

यूपी: फतेहपुर में पिटाई के बाद प्रेमी ने की सुसाइड, खबर सुन प्रेमिका ने भी जी जान

योगी ने कहा कि आज की पुलिस को आमजनों के साथ जुड़ना होगा. जो गलत करते हैं, उनके लिए भय का पर्याय का बनना होगा. जीवन की स्थायी सफलता के लिए सही रास्ता अपनाना जरूरी है. मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की कानून व्यवस्था सही है, सही होने की वजह से ही प्रदेश में लाखों करोड़ रुपये का निवेश आ रहा है.