लखनऊ: राजधानी के चारबाग एरिया के दो बड़े होटलों में मंगलवार सुबह भीषण आग लग गई. आग में जलकर एक बच्ची समेत पांच लोगों की मौत होने की पुष्टि हुई है, जबकि तीन लोग गंभीर रूप से झुलस गए हैं. घायलों को केजीएमयू की सिप्स बर्न यूनिट में भर्ती कराया गया. इसके अलावा दर्जनों लोगों के भी झुलसने की सूचना है. आग पर अभी भी काबू नहीं पाया जा सका है, दमकलकर्मियों का दस्ता आग पर काबू पाने में जुटा है.

 

राजधानी के चारबाग स्‍टेशन एरिया में स्थित एसएसजे इंटरनेशनल होटल के बार और रेस्टोरेंट में मंगलवार सुबह भीषण आग लग गई. आग ने पास के विराट होटल को भी चपेट में ले लिया. आग की सूचना पर आसपास होटलों में हड़कंप मच गया. इस दौरान सूचना पर पहुंची पुलिस और दमकल की टीम मौके पर पहुंच गई. दमकल की आधा दर्जन गाडि़यां आग बुझाने के काम में जुटी हुई हैं. एस पांडे, आईजी लखनऊ के मुताबिकि अब तक अग्निकांड में चार लोगों की मौत हो गई है, जबकि इमारत से 50 से ज्यादा लोगों को बचाया गया है. आग का कारण अभी भी पता लगाया जा सकता है. अगर जांच के दौरान होटल प्रबंधन के खिलाफ गड़बड़ी मिलने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.

शार्ट सर्किट से आग लगने की आशंका
एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि आसपास के लोगों के अनुसार, सुबह साढ़े पांच बजे होटल से धुआं निकलने लगा. पुलिस को सूचना करीब 6.15 बजे दी गई. मौजूदा समय सर्च ऑपरेशन जारी है. फर्स्ट फ्लोर पर सर्च चल रहा है. आग की वजह शार्टसर्किट हो सकती है. मामले की जांच की जाएगी. पहली नजर में लग रहा है कि बेसमेंट में आग लगी और ऊपर की तरफ बढ़ती चली गई. हादसे के वक्त 35 से 40 लोग होटल में मौजूद थे. सभी को निकाल लिया गया है. घटना के बाद से होटल का मैनेजर फरार है.

आग की सूचना पर्यटकों को देने के बजाए भाग गए होटल कर्मी
राजधानी के व्यस्ततम इलाके में अवैध टैक्सी स्टैंड और अतिक्रमण के चलते अग्निशमन दस्ते को वहां तक पहुंचने में खासी मशक्कत करनी पड़ी. दोनों ही होटल में आग से बचाव के पर्याप्त उपकरण नहीं थे. होटल प्रबंधन की लापरवाही के जलते लोगों की जान गई. होटल में आग लगने की सूचना वहां ठहरे लोगों को देने और उन्हें सुरक्षित निकालने के बजाय होटलकर्मी अपनी जान बचा कर भाग निकले. घटना स्‍थल पर एसएसपी समेत पुलिस अफसर मौके पर मौजूद हैं. उधर, कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने अस्पताल पंहुच कर घायलों का हाल चाल जाना और डॉक्टरों को हिदायत दी.