लखनऊ: पिछले साल यूपी के एक आईएएस अफसर पर 4721 करोड़ के घोटाले व नोटबंदी के दौरान 15 से 20 करोड़ रुपए की करेंसी बदलवाने का आरोप लगाने वाले आईएफएस (इंडियन फ़ॉरेस्ट सर्विस) अफसर एके जैन की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई. घटना शाहजहांपुर में हुई. वह बुधवार को लखनऊ से निकले बरेली के लिए निकले थे, लेकिन बीच में ही सड़क दुर्घटना में उनकी मौत हो गई. एक ट्रक ने उनकी कार को टक्कर मार दी. वह इस समय लखनऊ में तैनात थे.

पिछले साल आईएएस पर लगाए थे ये आरोप
आईएफएस अफसर एके जैन की सड़क दुर्घटना में मौत के बाद हड़कंप मच गया. बता दें कि एके जैन उत्तर प्रदेश में पिछले साल 2017 में चर्चा में आए थे. उन्होंने यूपी के सीनियर आईएएस अधिकारी संजीव सरन पर घोटालों और नोटबंदी के दौरान भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था. आरोप लगाया था कि आईएएस अधिकारी संजीव सरन ने सरकार को 4721 करोड़ रुपए का घोटाला किया. उनके खिलाफ एफआईआर हुई, लेकिन इसके बाद भी उनका कुछ नहीं हुआ. यह भी आरोप था कि संजीव सरन ने नोटबंदी के दौरान गलत तरीके से 15 से 20 करोड़ रुपए बदलवा लिए. दो करोड़ रुपए तो वन विभाग से बदलवा लिए.

फंसा देने का जताया था अंदेशा
इसके साथ ही आईएफएस अफसर एके जैन ने कहा था कि आईएएस अधिकारी संजीव सरन के लंदन-दुबई में करोड़ों रुपये के होटल हैं. यूपी में ही आलीशान महलनुमा घर हैं. एक सरकारी अधिकारी होते हुए उन्होंने इतना सब कैसे जुटाया. आईएफएस अफसर का कहना था कि इतना सब होने के बाद भी संजीव सरन को पदोन्नति दे दी गई. एके जैन ने यह भी कहा था कि इन आरोपों के बाद हो सकता उन्हें फंसा दिया जाए.