लखनऊ: उत्तर प्रदेश के लखनऊ में सक्सेना जी का यूपी पुलिस ने 500 रुपये का चालान काट दिया है. अब आप सोच रहे होंगे आखिर लखनऊ के ये सक्सेना जी कौन हैं. दरअसल ये कोई खास नहीं बल्कि उन आम नागरिकों की तरह हैं जो अपने गाड़ियों के पीछे जाति सूचक शब्द, शेरों-शायरी, डायलॉग और रंग बिरंगे नबंर प्लेट लगवाते हैं. Also Read - ब्रिटेन से लखनऊ लौटे अधिकतर यात्रियों के फोन बंद, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी परेशान

दरअसल लखनऊ में वाहनों पर जाति सूचक शब्द लिखवाने को लेकर एक व्यक्ति पर कार्रवाई की गई है, इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है. इस वीडियो में दिखाई पड़ता है कि एक पुलिस कर्मी नए नियमों व आदेशों के बारे में सक्सेना जी को बताने की कोशिश करता है, इसके बाद कहता है कि हम आपकी गाड़ी का चालान कर रहे हैं और 500 रुपये का चालान काट देता है. Also Read - महंत नृत्य गोपालदास अस्पताल में भर्ती, सीने में दर्द की थी शिकायत

पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर ने बताया कि एक व्यक्ति नाका थाने से होकर कानपुर की ओर जा रहा था. उस व्यक्ति की गाड़ी का नंबर कानपुर का था और एक पुलिसकर्मी दीपक कुमार ने वाहन चेकिंग के तहत वैन को रोका. एसआई दीपक कुमार द्वारा उस गाड़ी को इसलिए रोका गया क्योंकि गाड़ी के पीछे सक्सेना जी लिखा हुआ था. Also Read - दिल्ली में नियमों के उल्लंघन पर 51,600 लोगों के काटे गए चालान, 2.53 करोड़ की हुई वसूली

बता दें कि नए नियम के मुताबिक किसी भी वाहन के पीछे जातिसूचक शब्दों का प्रयोग नहीं किया जा सकता है. उक्त व्यक्ति के पकड़े जाने के बाद उन्हें नए नियमों से अवगत कराया गया और जातिसूचक शब्द हटाने को कहा गया. साथ ही चालान भी किया गया. इस पूरी घटना का किसी ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया है.