लखनऊ: बसपा प्रमुख मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण को ‘चुनावी जुगाड़ वाला’ भाषण बताया है. उन्होंने कहा कि चुनाव नजदीक हैं इसलिए अब वह और बीजेपी महंगाई, गरीबी, बेरोजगारी, किसानों की आत्महत्या जैसे मुद्दों पर ध्यान दे रही है, जबकि चार सालों में उन्होंने सिर्फ समाज को बांटने वाली राजनीति की. अब इनकी इस नीति से जनता भली-भाँती परिचित हो गई है.

मायावती ने कहा कि पीएम मोदी ने आजमगढ़ व मिर्जापुर में जो भाषण दिया है, वो दिखाता है कि वह हताश हैं. कर्नाटक में हर हथकंडा अपनाने के बाद भी सरकार नहीं बन पाई, इससे वह कुंठित है. मायावती ने आशंका जाहिर की कि हो सकता है कि समय से पहले चुनाव करा दिए जाएं. क्योंकि जिस तरह से जम्मू कश्मीर में महबूबा मुफ़्ती की सरकार गिराई गई उससे ये संकेत मिले हैं. बसपा सुप्रीमो ने कहा कि मानसून सत्र में प्रधानमंत्री को अविश्वास प्रस्ताव का सामना करना है. लेकिन इससे बचने के लिए बीजेपी पिछले सत्र की तरह इस सत्र को भी नहीं चलने देगी.

बता दें कि 14 व 15 जुलाई को पीएम नरेंद्र मोदी उत्तर प्रदेश के दौरे पर थे. उन्होंने यहां दो दिनों में कई जगहों का दौरा कर कई हजार करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया. इस दौरान उन्होंने जनसभाओं में संबोधित कर पिछली सरकारों पर आरोप लगाया कि सरकारों ने जानबूझकर विकास नहीं कराया. किसानों और अन्य लोगों के साथ धोखा दिया.