लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य के 18 विश्वविद्यालयों के शिक्षकों और समकक्ष कर्मचारियों को शिक्षक दिवस का तोहफा देते हुए सातवें वेतन आयोग का वेतन लाभ देने का फैसला किया. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में कल हुई राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में यह फैसला किया गया. Also Read - योगी आदित्यनाथ की मुरीद हुईं कांग्रेस विधायक अदिति सिंह, कहा- सीएम मेरे राजनीतिक गुरु

Also Read - राममय हो जाएगी अयोध्या, कायाकल्प की तैयारी, हर जगह होंगे बस राम ही राम, जानें पूरा Plan

यूपी: लखनऊ में शिक्षक दिवस पर टीचर्स ने कराया मुंडन, कटोरा लेकर भीख मांगी, लाठीचार्ज Also Read - सीएम योगी कल नोएडा में, 420 बिस्तरों वाले कोविड-19 अस्पताल का करेंगे उद्घाटन

बैठक के बाद राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि इन विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों के शिक्षकों व समकक्ष कर्मचारियों को एक जनवरी 2016 को आधार मानकर सातवें वेतन आयोग के अनुसार वेतन का लाभ दिया जाएगा. प्रवक्ता ने बताया कि यह योजना कुलसचिव, वित्त अधिकारी, परीक्षा नियंत्रक, कुलपति और प्रति कुलपति के पदों पर लागू नहीं होगी.

शिक्षक भर्ती मामला: नौकरी के लिए हाथ जोड़ फूट-फूट कर रोये अभ्यर्थी, पुलिस ने घसीटकर हटाया

उन्होंने बताया कि वेतन पुनरीक्षण योजना लागू होने के फलस्वरूप आने वाला अतिरिक्त व्यय भार का 50 फीसदी वहन राज्य सरकार अपने स्रोतों से करेगी. प्रवक्ता के अनुसार इस फैसले से शिक्षकों के वेतन में 15 हजार रुपए से 35 हजार रुपए के बीच हर महीने बढ़ोत्तरी हो जाएगी.