लखनऊ: उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में अगले वर्ष लगने वाले कुंभ मेले को लेकर सरकार ने अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं. अधिकारियों का दावा है कि कुंभ के दौरान पहली बार देश एवं विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं को हेलीकॉप्टर की सुविधा मुहैया कराई जाएगी और साथ में पूरे कुंभ में टेंट सिटी विकसित की जाएगी जिसमें 5,000 कॉटेज होंगे. पर्यटन विभाग के सूत्रों के मुताबिक, केंद्र एवं प्रदेश सरकार पिछले डेढ़ साल से कुंभ की बेहतर तैयारियों में लगी हुई है. हम वहां पर आधुनिक व्यवस्था श्रद्धा और परंपरा के साथ देंगे. Also Read - Maha Kumbh 2021: हरिद्वार महाकुंभ में होने वाले शाही स्नान की तारीखों का ऐलान, यहां देखें पूरी लिस्ट

अब www.kumbhmela.com पर विजिट कर जानिए कुंभ से जुड़ी हर बात, शाही स्नान भी होगा लाइव Also Read - 12 फरवरी: वो दिन जब महात्मा गांधी की अस्थियों को किया गया था विसर्जित, 10 लाख लोगों ने दी थी अंतिम विदाई

हेलीकॉप्टर से भी महाकुंभ दर्शन कराया जाएगा. कुंभ का आकर्षण इस बार भी अखाड़ों का स्नान व शाही सवारी होंगी. कुंभ के दौरान देशभर के कलाकार यहां सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश करेंगे. इसके लिए छह अलग-अलग केंद्र बनाए जाएंगे. लगभग 10,000 की क्षमता वाला एक कंवेंशन सेंटर बनेगा, जहां कलाकारों की प्रस्तुतियां होंगी. कुंभ का प्रचार-प्रसार दूतावासों के माध्यम से भी किया जाएगा. पर्यटन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि महाकुंभ में बेहतर सुरक्षा व्यवस्था होगी. खुफिया कैमरे से निगरानी होगी, कमांडो दस्ते तैनात होंगे. शहर का नवीनीकरण, चौड़ीकरण किया जा रहा है. Also Read - चिन्मयानंद मामला: हाईकोर्ट ने कहा-किसने किसका शोषण किया, कहना बहुत मुश्किल है

प्रयाग कुंभ 2019: ज्‍यादा पर्यटकों को जोड़ने के लिए विदेशी भाषाओं में भी होगा कुंभ का साहित्य

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री द्वारा चलाए गए स्वच्छता अभियान को ध्यान में रखते हुए इको फ्रेंडली सेनिटेशन की व्यवस्था की जा रही है. बायोडिग्रेबल टॉयलेट लगाए जाएंगे ताकि गंगा में गंदगी न जाए. बेहतर सड़क, बिजली, पानी की सुविधा देंगे. उत्तर प्रदेश की पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी के मुताबिक, ‘कुंभ के दौरान 5,000 कॉटेज बनाए जाएंगे, जिसमें 1,200 स्विस कॉटेज होंगे. इनमें डीलक्स, सुपर डीलक्स श्रेणी के होंगे. बाहर से आने वाले श्रद्धालु इन स्थानों पर रुक सकेंगे.’