लखीमपुर: उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में गुरुवार देर रात लखनऊ विश्वविद्यालय के छात्र नेता अमन बाजपेई की गोली मार कर हत्या कर दी गई. इस मामले में मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. लखीमपुर खीरी के पुलिस अधीक्षक के पीआरओ ने बताया कि मामला गोला कस्बे का है. लक्ष्मीनगर मोहल्ला निवासी रामराखन बाजपेई अपने दो पुत्र विजय और अभय के साथ रहते हैं. जबकि रामराखन की दूसरी पत्नी से पुत्र कुलदीप बाजपेई कुछ दूरी पर अलग मकान में अपने परिवार के साथ रहता है. Also Read - Sona Mohapatra ने निकिता तोमर की हत्या पर जताया दुख, सबसे पूछा एक तीखा सवाल?

बता दें कि इन दिनों कोरोना के चलते विजय का बेटा लखनऊ विश्वविद्यालय में छात्र नेता अमन बाजपेई के लखनऊ स्थित घर आया हुआ था. रात में खाना खाने के बाद घर से बाहर टहलने के लिए निकला था. लगभग सौ कदम की दूरी पर घर के बाहर सौतेले चाचा से पैतृक संपत्ति को लेकर कहा सुनी हो गयी थी. जिसके बाद अमन की गोली मार कर हत्या कर दी गयी. आनन फानन में परिजन अमन को अस्पताल लेकर भागे, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. आरोपी चाचा को गिरफ्तार कर लिया गया है. Also Read - यूपी का बिकरू हत्याकांड: जब्‍त हथियारों में कई लोगों के फिंगरप्रिंट्स मिले, क्‍या सजा दिलाने में होगी मुश्‍किल?

सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और आरोपी को हिरासत में ले लिया है. मृतक के बाबा रामराखन बाजपेई गन्ना समिति में कई बार संचालक और केन ग्रोवर्स नेहरू डिग्री कॉलेज में प्रबंधक रह चुके हैं. मृतक के पिता विजय बाजपेई केन ग्रोवर्स नेहरू डिग्री कॉलेज में छात्र संघ के अध्यक्ष रह चुके हैं. मृतक अमन बाजपेई अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का पूर्व नगर सयोजक और लखनऊ विश्वविद्यालय में एलएलबी कर रहा था. Also Read - Mumbai: ब्‍वॉयफ्रेंड के साथ आपत्तिजनक हालात में दिखी महिला, प्रेमी संग मिलकर सास को पत्‍थरों से कुचल डाला