लखनऊ: लखनऊ में कार नहीं रोकने पर विवेक तिवारी की गोली मारकर हत्या कर देने की घटना को लेकर बसपा प्रमुख मायावती ने प्रेस वार्ता की. बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने इस हत्याकांड को लेकर योगी आदित्यनाथ सरकार को घेरते हुए कहा कि सरकार को बिना कोई देरी किए इस मामले की उच्च-स्तरीय जांच करानी चाहिए. मायावती ने कहा कि राज्य में कानून-व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है. सरकार इस मामले पर लीपापोती कर रही है.

Exclusive: विवेक को गोली मारने वाले सिपाहियों के समर्थन में यूपी पुलिस, 5 करोड़ रुपए देने का ऐलान

मायावती ने कहा कि इस मामले में अगड़ी जाति विशेषकर ब्राहमण समाज के लोगों का कुछ ज्यादा ही शोषण एवं उत्पीड़न हो रहा है. उन्होंने कहा कि इसका ताजा उदाहरण राजधानी लखनऊ में निजी कंपनी के प्रबंधक विवेक तिवारी की कथित हत्या है जो अति निंदनीय है. दुख की इस घड़ी में हमारी पार्टी पूरी तरह से पीड़ित परिवार के साथ है.’ उन्होंने कहा कि मेरा सरकार से यही कहना है कि यदि उसका इसमें कोई हाथ नहीं है तो उसे बिना कोई देरी किए इस मामले की उच्च-स्तरीय जांच करानी चाहिए. मायावती ने कहा कि हमारी पार्टी की सरकार से मांग है कि दोषी पुलिसकर्मियों के साथ-साथ लापरवाह वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ भी सख्त कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए.

सजा या इनाम: मुस्लिम से दोस्ती करने पर लड़की को पीटने वाले पुलिसकर्मियों का गोरखपुर ट्रांसफर

मायावती ने कहा कि यदि सरकार पीड़ित परिवार को न्याय दिलाना चाहती है तो उसे बिना कोई देरी किये इस मामले की उच्च स्तरीय जांच करानी चाहिए.’ मायावती ने कहा कि मैंने पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं राज्यसभा सांसद सतीश मिश्रा को भी पीड़ित परिवार से मिलने के लिए कहा है और पीड़ित परिवार को न्याय का भरोसा दिलाने के निर्देश दिए हैं. मायावती ने कहा कि घटना दुखद है और सतीश मिश्र एक वकील होने के नाते खुद मामले की पैरवी करने को भी तैयार हैं.