लखनऊ: आईफोन कंपनी एपल के मैनेजर विवेक तिवारी की यूपी पुलिस के सिपाही द्वारा गोली मारकर हत्या किए जाने के मामले में परिजन सरकार और पुलिस के खिलाफ खुलकर सामने आ गए हैं. विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना तिवारी ने कहा है कि मैं अपने बच्चों को क्या बताऊंगी कि उनके पापा को क्यों मार दिया गया. जब योगी सरकार बनी थी हमने खुशियां मनाई थीं और फिर हमारे साथ ही ऐसा हो गया. उन्होंने कहा कि मैं अपने बच्चों को क्या बताउंगी कि उनके पापा को क्यों मार दिया गया. पुलिस ने उन्हें क्यों मार दिया. Also Read - UP Panchayat Election 2021: यूपी पुलिस की बड़ी जिम्मेदारी- कोरोना से बचाना है, चुनाव भी कराना है

Also Read - 22 साल की लड़की को खोजने के लिए यूपी पुलिस ने मांगे 1 लाख रुपए, शख्स ने कर ली सुसाइड

कांस्टेबल ने मारी एपल के मैनेजर को गोली: पत्नी ने कहा- CM के आने के बाद ही करेंगे अंतिम संस्कार Also Read - Extra Marital Affair: गांव के ही युवक के साथ पत्नी का चल रहा था प्रेम प्रसंग, समझाने के बाद भी नहीं मानी तो पति ने...

कार न रोकने पर ऐपल कंपनी के मैनेजर को कॉन्स्टेबल ने मारी गोली, मौत के बाद उठे कई सवाल

बता दें कि उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर थाना इलाके में विवेक तिवारी को यूपी पुलिस के कांस्टेबल प्रशांत चौधरी ने गोली मार दी थी. शुक्रवार-शनिवार की रात हुई इस घटना के बाद विवेक तिवारी को लोहिया अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई. कांस्टेबल की गोली से कार में बैठे विवेक तिवारी की कार में ही मौत हो गई थी. घटना की जांच के लिए यूपी सरकार ने जांच कमिटी गठित की गई है. घटना के बाद उत्तर प्रदेश पुलिस और बीजेपी सरकार पर बड़े सवाल उठे रहे हैं. यूपी पुलिस पिछले कुछ समय से लगातार एनकाउंटर कर रही है. पुलिस का कहना है कि अपराधियों के एनकाउंटर करने से अपराध कम हो रहे हैं. इस मामले में पहले यूपी पुलिस ने कहा था कि विवेक तिवारी कार में संदिग्ध अवस्था में थे. कार रोकने को कहने पर नहीं रुके. पुलिस की बाइक पर कार चढ़ाने का प्रयास किया, इसलिए रक्षा में पुलिस ने गोली चला दी. वहीँ, बाद में यूपी पुलिस के आलाधिकारियों ने घटना की निंदा की. आरोपी कांस्टेबल के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.

गोमतीनगर कांड: मंत्री ने कहा गोली जिसे लगी वह अपराधी था, आरोपी का दावा उसकी एफआईआर दर्ज नहीं हो रही

वहीँ, अब तक विवेक तिवारी का अंतिम संस्कार नहीं किया गया है. दूसरी ओर विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना तिवारी भी मीडिया के सामने आ गई हैं. उन्होंने कहा कि अगर मेरे पति ने कोई गलती की थी उन्हें रोकते. अगर गाड़ी नहीं रुकी तो आगे की पुलिस को गाड़ी रोकने को कहते. आगे की पुलिस को सूचित करते. तब कार्रवाई करते, लेकिन गोली क्यों मारी. मेरी मांग है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आएं. उन्होंने कहा कि वह अपने बच्चों को क्या बताउंगी कि उनके पिता को पुलिस ने गोली क्यों मार दी.