Mukhtar Ansari car seized मऊ से बसपा के बाहुबली विधायक गाजीपुर निवासी मुख्तार अंसारी की लग्जरी कार को पुलिस ने बेनामी संपत्ति के रूप में जब्त कर लिया है. पुलिस उपाधीक्षक (नगर) ओजस्वी चावला ने बृहस्पतिवार को बताया कि मुख्तार की एक कीमती कार का पंजीकरण विकास कंस्ट्रक्शंस के नाम पर है. इस कंपनी में मुख्तार की पत्नी अफशां की 60 प्रतिशत हिस्सेदारी है. इसके अलावा मुख्तार के सालों अनवर शहजाद और शरजील रजा की हिस्सेदारी 20-20 प्रतिशत है.Also Read - अब मुख्तार अंसारी की पत्नी की भी मुश्किलें बढ़ीं, मऊ DM ने दिए करोड़ों की संपत्ति कुर्क करने के आदेश

उन्होंने कहा कि कंपनी के नाम कार का पंजीकरण होने पर उसे बेनामी संपत्ति माना जाएगा. माफिया तत्वों के खिलाफ कार्रवाई के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश के अनुसार कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के बाद मुख्तार की कार जब्त करने की कार्यवाही की गई है. ओजस्वी ने बताया कि यह कार मुख्तार की पत्नी अफशां अंसारी के गाजीपुर नगर के सैय्यदवाड़ा मुहल्ले में स्थित घर से जब्त की गई है. टीम ने मुख्तार अंसारी के करीबी के फर्म के नाम पर रजिस्टर्ड इस ऑडी कार की कीमत करीब 31 लाख रुपये आंकी है. Also Read - Video: कार चला रहा शख्स कांस्टेबल को बोनट पर 500 मीटर तक घसीटते ले गया

एक अन्य मामले में बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी से जुड़े बहुचर्चित एम्बुलेंस प्रकरण में प्रदेश शासन ने बाराबंकी के तत्कालीन सम्भागीय परिवहन अधिकारी राजेश्वर यादव को निलम्बित कर दिया है. यादव एम्बुलेंस के पंजीकरण के समय बाराबंकी में तैनात थे और जुलाई 2019 से बलिया में पदस्थ हैं. Also Read - मध्य प्रदेश में सपा-बसपा को तगड़ा झटका, 3 विधायक बीजेपी में शामिल, सीएम ने दिलाई पार्टी की सदस्यता

अपर जिलाधिकारी राम आसरे ने बलिया के सम्भागीय परिवहन अधिकारी राजेश्वर यादव को निलम्बित किये जाने की बृहस्पतिवार को पुष्टि की. विभागीय सूत्रों के अनुसार यादव के विरुद्ध बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी से जुड़े बहुचर्चित एम्बुलेंस प्रकरण में प्रदेश शासन ने यह कार्रवाई की है.

(इनपुट भाषा)