लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना को लेकर अजीबोगरीब मामला सामने आया है. यूपी के कुशीनगर जिले के नेबुआ नौरंगिया ब्लाक में एक दंपति ने पैसे की लालच में दोबारा विवाह कर लिया. बताया जा रहा है कि ऐसा उन्‍होंने दोबारा से मुख्‍यमंत्री सामूहिक विवाह योजना का लाभ पाने के लिए किया है. बता दें कि यह विवाह समारोह स्थानीय भाजपा विधायक जटाशंकर और जिलाधिकारी अनिल कुमार सिंह की मौजूदगी में बुधवार को हुआ.

जानकारी के मुताबिक, घटना की सच्चाई तब सामने आयी जब विवाह करने आयी महिला समारोह के दौरान ही अपने नवजात शिशु को स्तनपान कराने लगी. देवताहा की रहने वाली ममता की शादी खानू छपरा के प्रदीप से दो साल पहले हुई थी. उनके एक बच्चा भी है. जब विवाह समारोह के दौरान लोगों ने ममता को अपने बच्चे को स्तनपान कराते देखा तो उसने पत्रकारों के सामने सचाई उगल दी. बता दें कि कोटवा बाजार स्थित नेबुआ नौरंगिया ब्लाक परिसर में बुधवार को मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना में 50 जोड़ों की शादियां कराई गईं.

VIDEO: आदिवासियों संग नाचे झारखंड के सीएम रघुवर दास, झूम उठे लोग

मामले की जांच के दिए आदेश
कुशीनगर के समाज कल्याण अधिकारी टीके सिंह से पूछा गया तो बोले कि हां, पहले से विवाहित दंपति के बारे में सूचना है. जांच कर रहे हैं. अगर सूचना सही निकली तो एफआईआर की जाएगी और योजना के तहत दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि वसूल की जाएगी. विवाह योजना के तहत 20 हजार रूपये विवाहिता के बैंक खाते में हस्तांतरित होते हैं और दंपति को दस हजार रूपये के तोहफे भी दिये जाते हैं.