लखनऊ: देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर सरकार की तरफ से 3 मई तक के लिए देश को लॉकडाउन कर दिया गया है. ऐसे में मजदूर वर्ग व अन्य कई लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. कई लोग अपने घरों से दूर हैं. ऐसे में उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने राज्य सरकारों से अपील की है कि लोगों को भरपेट खाना उपलब्ध करवाई जाए. Also Read - Coronavirus: इन तीन भारतीय कंपनियों को नासा ने दिया वेंटिलेटर विनिर्माण का लाइसेंस

मायावती ने ट्वीट करते हुए लिखा कि केंद्र व सभी राज्य सरकारें कोरोना वायरस की टेस्टिंग बढ़ाने के साथ-साथ खासकर लाचार लाखों गरीब मजदूर प्रवासियों को पेट भर खाना उपलब्ध कराये वरना भूख से तड़पते ये लोग कैसे अपनी इम्यूनिटी बढ़ाकर घातक कोरोना बीमारी से बच पायेंगे? सरकारी गोदामों का गल्ला आखिर किस दिन काम आएगा? Also Read - महाराष्ट्र सरकार से मुंबई हाई कोर्ट ने पूछा, प्रवासी कामगारों के लिए कौन-कौन से कदम उठाए गए, स्पष्ट करें

वहीं मायावती ने दूसरे ट्वीट में लिखा कि वैसे बेहत्तर तो यही होगा कि सरकारें लॉकडाउन से पीड़ित इन लाखों मज़लूम व मजबूर लोगों की जल्दी से जल्दी उचित व्यवस्था करके इन्हें इनके घरों में सुरक्षित भिजवाये तथा इनको जीने के लिए फौरी तौर पर इनकी कुछ आर्थिक मदद भी जरूर करे, बी.एस.पी. की पुनः यह मांग है. बता दें कि बीते दिनों योगी सरकार ने कोटा में फंसे बच्चों को बस भेजकर निकलवाया था.