Uttar Pradesh News: बहुजन समाज पार्टी (BSP) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती (Mayawati) ने ऐलान किया कि बसपा यूपी में जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव नहीं लड़ेगी. उन्होंने कहा कि BSP का पूरा फोकस 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Election 2022) पर है. मायावती ने सोमवार को पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा, ‘अगले विधानसभा चुनाव में यूपी में बसपा की सरकार बनेगी. राज्य में सर्वजन को बचाना है बसपा को सत्ता में लाना होगा. जब प्रदेश में BSP की सरकार बन जाएगी, तो जिला पंचायत अध्यक्ष खुद ही बसपा में शामिल हो जाएंगे.’Also Read - राष्ट्रपति चुनाव में BSP ने द्रौपदी मुर्मू को समर्थन देने का ऐलान किया, ममता बनर्जी को लेकर जताई नाराजगी

उन्होंने बताया कि पार्टी के लोगों को निर्देश दिया गया है कि वे इस चुनाव में अपना समय और ताकत लगाने की बजाय पार्टी के संगठन को मजबूत बनाने और सर्व समाज में पार्टी के जनाधार को बढ़ाने में लगाएं. मायावती ने कहा, ‘बसपा के लोगों को हथकंडों से सतर्क रहना चाहिए. साल 1995 में हम सपा सरकार से अलग हुए थे. भारतीय जनता पार्टी (BJP) भी सपा की ही तरह है. बसपा के खिलाफ तरह-तरह की अफवाह फैलाई जा रही हैं, जिससे सभी को दूर रहना चाहिए.’ Also Read - क्या यादव परिवार में सब ठीक नहीं चल रहा? अखिलेश यादव के आजमगढ़ में प्रचार नहीं करने पर अटकलों न पकड़ा जोर

मायावती ने कहा, ‘मैं तो फरवरी से ही लगातार लखनऊ में ही हूं. कोरोना वायरस संक्रमण के दौरान भी हम पार्टी की बैठक करते रहे हैं. हम उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी कर रहे हैं. हमने बैठकों में ही तय किया है कि विधानसभा चुनाव अकेले लड़ेंगे. अब भी पार्टी के नेता तथा कार्यकर्ता लगातार सक्रिय होकर 2022 की योजना तैयार करने में लगे हैं. हम तो हर स्तर पर पार्टी को बेहद मजबूत करने पर लगातार मंथन कर रहे हैं. हम किसी को दिखाते नहीं हैं, जबकि अन्य दल मीडिया के जरिये हमारा मनोबल तोडने में लगे हैं.’ Also Read - कांग्रेस विधायक का सोनिया गांधी को पत्रः मायावती को बनाया जाए पार्टी की ओर से राष्ट्रपति उम्मीदवार

मायावती ने इस दौरान भारतीय जनता पार्टी पर भी जमकर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि भाजपा भी अब तो समाजवादी पार्टी की तर्ज पर काम कर रही है. जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में भाजपा ने अपना रंग दिया गया है. यह लोग लोकतंत्र की दुहाई देने के साथ ही अनुशासन की बड़ी-बड़ी बातें भी करते हैं, लेकिन इनका चेहरा सभी को दिख गया है.

(इनपुट: IANS)