मेरठ: देवरिया कांड के बाद पूरे उत्तर प्रदेश के शेल्टर होम में खलबली मची हुई है. उत्तर प्रदेश की महिला एवं बाल कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी आज मेरठ पहुंच गईं. यहां खलबली मच गई. निरीक्षण के दौरान बाल कल्याण मंत्री ने अधिकारियों को जरूरी दिशा निर्देश दिए. मेरठ के लाल कुर्ती इलाके में एक शेल्टर होम है. आज महिला एवं बाल कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी इस शेल्टर होम का निरीक्षण करने पहुंच गईं. यहां उन्होंने महिलाओं से बात की. रजिस्टर आदि चेक किए. इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को शेल्टर होम के संबंध में दिशा निर्देश दिए.

‘लड़कियों को सजा-धजाकर कार से गोरखपुर ले जाते थे, होटल में गलत काम के बाद 500-1000 रुपए देते थे’

बता दें कि मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने प्रदेश के सभी बालिका गृहों की जांच के निर्देश दिए थे. इसी के तहत गाजीपुर में पुलिस ने एक शेल्‍टर होम में छापेमारी की गई. इसमें तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस के अनुसार यह शेल्‍टर होम अवैध रूप से चल रहा था. पुलिस ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि जिस शेल्‍टर होम में शुक्रवार को छापेमारी की गई, उसमें सिर्फ एक महिला और एक नाबालिग रह रही थी.

यूपी: गाजीपुर के शेल्‍टर होम में फर्जीवाड़ा, पुलिस ने छापा मार तीन को किया गिरफ्तार

देवरिया मामले की हो रही सीबीआई जांच
5 अगस्त को देवरिया बालिका गृह में देह व्यापार कराए जाने का मामला सामने आने के बाद हलचल मची है. यहां रहने वाली नाबालिग बच्चियों के साथ बाहर ले जाकर रेप किया जाता था. एक बच्ची भागकर पुलिस के पास पहुंच गई, इसके बाद जो सच्चाई सामने आई, उससे रोंगटे खड़े हो गए. यहां से 24 बच्चियों को छुड़ाया गया, जबकि 19 अब तक गायब बताई जा रही हैं. संचालिका गिरिजा त्रिपाठी सहित चार को अब तक अरेस्ट किया गया है. यूपी सरकार ने पूरे मामले की सीबीआई जांच कराए जाने की घोषणा की है. प्रदेश के कई शेल्टर होम में भारी अनियमितताएं पाई गई हैं.