कानपुर: कानपुर की मिलनप्रीत कौर अमेरिका में नौकरी करने गईं. नौकरी के दौरान कुछ ऐसी उपलब्धि हासिल की, जिसकी चर्चा की जा रही है. खूबसूरती में छाईं मिलनप्रीत को वाशिंगटन की मिस इंडिया वाशिंगटन 2018 चुना गया है. मिलनप्रीत गरीबों की मदद करती हैं. वह अक्षम लोगों की मदद के लिए किनेक्ट ब्रिज नाम का एप चलाती हैं. इसके जरिए वह अक्षम लोगों के स्वास्थ्य का ख्याल रखती हैं.

Kedarnath: सारा अली खान ने शेयर की Behind the Scene की तस्वीरें, हिट होगी फिल्म?

मिलनप्रीत कौन यूपी के शहर कानपुर से ताल्लुक रखती हैं. कुछ समय पहले वह वाशिंगटन गईं. वह अमेरिका में माइक्रोसॉफ्ट इंजीनियर हैं. मिलनप्रीत ने वाशिंगटन में मिस इंडिया वाशिंगटन में हिस्सा लिया. इस कांटेस्ट में कई और सुंदरियों का हिस्सा लिया था. कई कांटेस्ट के बीच मिलनप्रीत को विजेता घोषित किया गया. विजेता घोषित किए जाने के बाद मिलनप्रीत ने कहा कि वह लोगों की मदद करना चाहती हैं, खासकर उनकी जो बीमार हैं और स्वास्थ्य लाभ नहीं ले पाते हैं. उन्होंने कहा कि उनका उद्देश्य है कि वह एक केयर सेंटर खोलें, जहां उन लोगों का इलाज हो, जिनका कोई परिवार में नहीं है और न ही कोई ख्याल रखने वाला है. उन्होंने कहा कि यह मेरे दादा को समर्पित होगा, जिनकी 2011 में कैंसर से मौत हो गई. मैं उन्हें याद करती हूं.

राजकुमार को आम लड़की से हुआ प्यार, राजशाही ने छीनी दोनों की जिंदगी, अकबर भी हुआ था प्रभावित

मिलनप्रीत कानपुर के दादानगर की रहने वाली हैं. वह रणवीर सिंह व सुप्रीत कौर की बेटी हैं. वह यहां पढ़ाई में हमेशा टॉपर रहीं. उन्हें पेंटिंग का शौक है. वह कुछ समय से अमेरिका में हैं. करीब एक साल से वह अमेरिका में सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं. इसके साथ ही मिलनप्रीत को समाजसेवा का भी शौक है. वह पेंटिंग की नीलामी कर गरीबों को रुपए दे देती हैं. मिलनप्रीत के पापा रणवीर ने कहा कि मिलनप्रीत की इस उपलब्धि पर घर में खुशी की लहर है. बेटी हमेशा पढ़ाई और समाजसेवा में आगे रही, अब अमेरिका में भी नाम रोशन कर रही है.